विदेश

कौन हैं इजराइल के नए प्रधानमंत्री नेफ्ताली बेनेट? जिन्होंने 12 साल बाद खत्म किया नेतन्याहू का शासन

Janprahar Desk
14 Jun 2021 12:19 PM GMT
कौन हैं इजराइल के नए प्रधानमंत्री नेफ्ताली बेनेट? जिन्होंने 12 साल बाद खत्म किया नेतन्याहू का शासन
x
पश्चिम एशियाई देश इजरायल को 12 साल बाद अपना नया प्रदानमंत्री मिल गया है। संसद में बहुमत हासिल करने के बाद दक्षिणपंथी यामिना पार्टी के 50 वर्षीय नेता नेफ्ताली बेनेट इजरायल के नए प्रदानमंत्री नियुक्त किये गए है।

पश्चिम एशियाई देश इजरायल को 12 साल बाद अपना नया प्रदानमंत्री मिल गया है। संसद में बहुमत हासिल करने के बाद दक्षिणपंथी यामिना पार्टी के 50 वर्षीय नेता नेफ्ताली बेनेट इजरायल के नए प्रदानमंत्री नियुक्त किये गए है। इजराइल संसद ‘नेसेट' में 60 सदस्यों ने नेफ्ताली बेनेट के पक्ष में वोट दिया, वहीं, 59 सांसदों ने विरोध में मतदान किया। जबकि एक सदस्य अनुपस्थित रहा।

प्रधानमंत्री बनते ही नेफ्ताली बेनेट ने अपने मंत्रियों का भी ऐलान कर दिया। नयी सरकार में 27 मंत्री हैं जिनमें से नौ महिलाएं हैं। वहीं, येश एतिद पार्टी के मिकी लेवी को संसद का स्पीकर चुना गया। बता दें कि नई पार्टी के लिए इस बार अलग-अलग विचारधारा के दलों ने गठबंधन किया है। जिसमे वाम, अरब समुदाय और दक्षिणपंथी शामिल है।

प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ लेने में बाद 50 वर्षीय नेफ्ताली बेनेट ने कहा, मुझे गर्व है कि हम अलग अलग विचार धाराओं वाले लोगों में साथ काम करेंगे।

कौन है नेफ्ताली बेनेट?

50 वर्षीय नेफ्ताली बेनेट मूल रूप से इजरायल के नहीं बल्कि अमेरिका के है, उनके माता पिता अमेरिका के रहने वाले थे जो इजरायल में आकर बस गए थे। इजरायल के हायफा शहर में जन्में नेफ्ताली बेनेट धार्मिक तौर पर यहूदी हैं और वह करोड़ों रुपये की संपत्ति के मालिक है। बेनेटे पहले एक पूर्व टेक आंत्रप्योर थे फिर वह धीरे धीरे वह एक राजनेता के तौर पर उभरने लगे।

राजनीतिक कैरियर

तेलअवीव में रहने वाले ये शख्स मौजूदा पीएम के साथ रहते हुए सरकार में वित्त-मंत्रालय और शिक्षा जैसे अहम विभाग देख चुके हैं। साथ वे इजराइली सेना में कमांडो रह चुके हैं। बेनेट ने नेतन्याहू के लिए 2006 और 2008 के बीच एक वरिष्ठ सहयोगी के रूप में काम किया। आपसी रिश्ते खराब होने के चलते उन्होंने फिर नेतन्याहू की पार्टी छोड़ दी और दक्षिणपंथी राष्ट्रीय धार्मिक यहूदी होम पार्टी में शामिल हो गए। इसके बाद सन 2013 में वह राष्ट्रीय धार्मिक यहूदी होम पार्टी की तरफ से सांसद नियुक्त किये है। इसके बाद से ही इनका राजनीतिक सफर शुरू हो गया और फिर सांसद पद पर पदासीन रहे। इसके बाद अब उन्हें सांसदों के बहुमत से इजरायल के नया प्रधानमंत्री चुना गया है।

फिलस्तीनियों के साथ कैसे होंगे संबंध

एक बयान में नेफ्ताली ने कहा था कि नेतन्याहू से अधिक दक्षिणपंथी है लेकिन वह नफरत या ध्रुवीकरण का इस्तेमाल राजनीतिक तौर ऑयर नहीं करेंगे। माना जा रहा है कि फिलस्तीनियों की मुसीबत कम नहीं होगी। बल्कि ऐसा भी संभव है कि शांति वार्ता भी खत्म हो जाय। फिलहाल ये तो आने वाले वक्त में ही पता चलेगा।

यह भी पढ़ें: G-7 लीडर्स का बढ़ा प्रेशर तो WHO ने तोड़ी चुप्पी, टेड्रोस ने कहा- कोविड की जांच में सहयोग करें चीन

Next Story
Share it