विदेश

US :चीन के खिलाफ चल रहे मोर्चे पर ट्रंप ने कहा: अब अमेरिका मे टिक टॉक के बाद होगा अलीबाबा का काम तमाम

Janprahar Desk
16 Aug 2020 6:02 PM GMT
US :चीन के खिलाफ चल रहे मोर्चे पर ट्रंप ने कहा: अब अमेरिका मे टिक टॉक के बाद होगा अलीबाबा का काम तमाम
x

अलीबाबा चीन की प्रसिद्ध ई-कॉमर्स कंपनी है ।वर्ष 2012 में इस कंपनी के 2 पोर्टलो ने 1.1 ट्रिलियन यूआन का कारोबार किया जो e-bay और amazon.com के संयुक्त कारोबार से अधिक है। इस कंपनी में अक्टूबर 2014 के अनुसार करीब 26,845 कर्मचारी कार्य करते हैं।

दूसरी और टिक टोक की बात की जाए तो अमेरिका ने अगस्त के पहले सप्ताह में टिक टॉक पर बैन लगाया था ।भारत में चीनी एप्स पर बैन की बात की जाए तो भारत अब तक टिक टॉक समेत चीन के 106 ऐप पर बैन लगा चुका है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक बार फिर चीन के प्रति अपनी नाराजगी दिखाई है और अब डॉनल्ड ट्रंप ने अमेरिका में टिक टॉक के बाद अलीबाबा पर भी बैन लगाने के संकेत दिए हैं।
अलीबाबा का नाम सुनकर सभी के मन में यह सवाल उठता है कि आखिर अलीबाबा क्या है?

तो बता दें कि अलीबाबा चीन की प्रसिद्ध ई-कॉमर्स कंपनी है ।वर्ष 2012 में इस कंपनी के 2 पोर्टलो ने 1.1 ट्रिलियन यूआन का कारोबार किया जो e-bay और amazon.com के संयुक्त कारोबार से अधिक है। इस कंपनी में अक्टूबर 2014 के अनुसार करीब 26,845 कर्मचारी कार्य करते हैं।

दूसरी और टिक टोक की बात की जाए तो अमेरिका ने अगस्त के पहले सप्ताह में टिक टॉक पर बैन लगाया था ।भारत में चीनी एप्स पर बैन की बात की जाए तो भारत अब तक टिक टॉक समेत चीन के 106 ऐप पर बैन लगा चुका है।

कोरोनावायरस संक्रमण का अमेरिका पर काफी बुरा प्रभाव पड़ा है। इसी कारण चीन इस समय अमेरिका के निशाने पर है ।इसी गुस्से के कारण अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीनी कंपनियों पर काफी गहरा शिकंजा रखा है ।और आगे भी इसकी पूर्ण तैयारी है ।और अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने निशाने पर चीन की ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा को लिया है। अमेरिका में अलीबाबा पर बैन लगाने के संकेत दे दिए हैं। शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि वे अमेरिका में अलीबाबा को बेन करने पर विचार कर रहे हैं।

अपनी रुटीन प्रेस कांफ्रेंस में जब उनसे पूछा गया कि क्या सरकार अलीबाबा जैसी चीनी स्वामित्व वाली कुछ और कंपनियों पर शिकंजा कसने जा रही है। ट्रंप ने कहा, 'ठीक है! हम कुछ और संभावनाएं तलाश रहे हैं और हां ऐसा हो सकता है।' शॉर्ट वीडियो एप टिक टॉक को अमेरिका में बैन करने के आदेश का आदेश जारी करने के पहले से ही ट्रंप तकनीकि क्षेत्र की चीनी कंपनियों के खिलाफ मोर्चा खोल चुके हैं।

ट्रंप ने टिक टॉक की पैरेटिंग कंपनी बाइटडांस (ByteDance) को 90 दिनों के भीतर अमेरिका से टिक टॉक का कारोबार समेटने का फरमान सुनाया था। अपने राष्ट्रपति कार्यकाल की शुरुआत से अब तक ट्रंप अमेरिका के साथ चीन के व्यापारिक रिश्तों को पूरी तरह पलट चुके हैं। वहीं कोरोना महामारी को लेकर ट्रंप शुरुआत से ही बीजिंग के खिलाफ काफी आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं।

Next Story
Share it