विदेश

US ने 30 करोड़ संभावित कोरोना वायरस टीकों का आर्डर दिया, लोगों में बंधी उम्मीद

Janprahar Desk
21 May 2020 4:30 PM GMT
US ने 30 करोड़ संभावित कोरोना वायरस टीकों का आर्डर दिया, लोगों में बंधी उम्मीद
x
हाल ही में मिली खबरों की माने तो अमेरिकी सरकार ने AstraZeneca कंपनी द्वारा विकसित की जा रही कोरोना वायरस की संभावित वैक्सीन के 30 करोड़ टीकों का आर्डर दे दिया है। इस वैक्सीन को दवाई बनाने वाली कंपनी AstraZeneca और Oxford विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने मिलकर विकसित किया है। US के स्वास्थ एवं मानव

हाल ही में मिली खबरों की माने तो अमेरिकी सरकार ने AstraZeneca कंपनी द्वारा विकसित की जा रही कोरोना वायरस की संभावित वैक्सीन के 30 करोड़ टीकों का आर्डर दे दिया है। इस वैक्सीन को दवाई बनाने वाली कंपनी AstraZeneca और Oxford विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने मिलकर विकसित किया है। US के स्वास्थ एवं मानव सेवाओं के जानकारों ने गुरुवार को ये बताया की उन्हें उम्मीद है कि इस टीके को मानव उपयोग के लिए अक्टूबर तक बाजार में लाने की कवायद जारी है।

अमेरिकी सरकार ने हाल ही में Operation Warp-Speed की शुरुआत की है जिसमे इस अनुबंध को बहुत महत्त्वपूर्ण बताया गया है। इस टीके के उपयोग से ये उम्मीद की जा रही है कि एक सुरक्षित, प्रभावशाली, और एक आसानी से मिलने वाले टीके को 2021 तक सभी के लिए उपलब्ध कराई जा सकेगी। ये जानकारी स्वास्थ एवं मानव सेवा के सचिव Alex Azar ने दी।

AstraZeneca ने अपनी महत्वाकांक्षी योजना के बारे में जानकारी देते हुए ये बताया कि यदि परीक्षणों के परिणाम अनुकूल आये तो कंपनी इसी साल के अंत तक सफल टीकों को बाजार में उतर पायेगी। कंपनी ने अपने प्रारंभिक परीक्षणों के परिणाम भी जल्दी साझा करने का वादा किया है और वो कुछ ही दिनों में आने वाले है। AstraZeneca ने इस बात को भी स्वीकारा कि उन्हें पता है टीका शायद काम न करे, परन्तु यदि शुरुआती चरणों में सफल परिणाम मिले तो दूसरे देशों में परवर्ती चरणों के परिक्षण मुमकिन हो सकते हैं।

आपको बता दें कि बहुत काम ही ऐसे टीके बनाये गए हैं जो कोरोना वायरस के मानव परिक्षण में सफल निकले हैं जिससे टीके के सुरक्षा और गुणवत्ता का सफल आंकलन किया जा सकता है। ये बात ध्यान रहे कि अबतक कोरोना वायरस से बचने के लिए किसी भी प्रकार का टीका या दवाई उपलब्ध नहीं है और दुनिया के शोधकर्ता और तमाम वैज्ञानिक जल्द से जल्द एक असरदार टीके को खोजने में लगे हुए हैं।

Next Story
Share it