विदेश

सचिन तेंदुलकर से नफरत करते थे शेन वार्न, ब्रेट ली ने बताई वजह।

Janprahar Desk
28 April 2020 7:54 PM GMT
सचिन तेंदुलकर से नफरत करते थे शेन वार्न, ब्रेट ली ने बताई वजह।
x
दुनिया के महानतम बल्लेबाजों में शुमार सचिन तेंदुलकर का विकेट हासिल करना हर गेंदबाज का सपना हुआ करता था। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाजी ब्रेट ली ने सचिन का विकेट लेने के अनुभव को साझा किया है। उन्होंने बताया कि कैसे 22 साल की उम्र में जब उनके ऑस्ट्रेलिया की तरफ से पहली बार खेलने

दुनिया के महानतम बल्लेबाजों में शुमार सचिन तेंदुलकर का विकेट हासिल करना हर गेंदबाज का सपना हुआ करता था। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाजी ब्रेट ली ने सचिन का विकेट लेने के अनुभव को साझा किया है। उन्होंने बताया कि कैसे 22 साल की उम्र में जब उनके ऑस्ट्रेलिया की तरफ से पहली बार खेलने का मौका मिला तो सचिन का विकेट लेकर उनको ऐसा लगा सबकुछ मिल गया।

ब्रेट ली स्टार स्पोर्ट्स के शो क्रिकेट कनेक्टेड पर सचिन तेंदुलकर को गेंदबाजी करने के अपने शुरुआती अनुभव पर बोलते हैं। उन्होंने कहा, “मैं 22 साल का था जब मुझे लिटिल मास्टर के खिलाफ खेलने का पहला मौका मिला। मैंने उनका विकेट लिया और मेरे लिए वह पल था। मुझे टेस्ट मैच की परवाह नहीं थी क्योंकि मैं सचिन तेंदुलकर को आउट करके बहुत खुश था।”

सचिन से नफरत करते थे वार्न

ब्रेट ली ने बताया, “जिस तरह से सचिन गेंदबाजों के हाथ को पढ़ते थे, वो अलग अलग तकनीक के साथ गेंद को पूरे क्लास से अलग अलग तरह से खेला करते थे। कभी कभी वार्न हवा के सहारे अलग तरह का उछाल हासिल करने की कोशिश करते थे कई बार, वो कोशिश करते थे और कई गेंदों के ऐसा टप्पा खिलाया करते थे। जितनी बार भी वो इस तरह की खास विविधता हासिल करने में कामयाब होते थे तो सिर्फ सचिन ही थे जो इसे पकड़ लिया करते थे।”

दुनिया के बाकी बल्लेबाजों को तो वार्न ऐसे बदलाव से चकमा देने में कामयाब होते थे लेकिन सचिन उनके हाथ को बाकी बल्लेबाजों की तुलना में काफी अच्छे से पढ़ने में कामयाब होते थे। वार्न को इस बात से काफी नफरत होती थी, वो वापस आकर कहा करते थे सचिन को आउट करने के लिए मैंने सब कुछ आजमा लिया लेकिन इसे आउट नहीं कर पाया।

सचिन और वार्न के बीच चूहे-बिल्ली का खेल

ब्रेट ली सचिन की शेन वार्न के खिलाफ बल्लेबाजी की तकनीक पर कहा, वह कुछ अवसरों पर विकेट से आगे आते थे और वार्न को छोटी गेंदबाजी करने के लिए आमंत्रित करें। कभी-कभी, वह पीछे के पैर पर धैर्यपूर्वक शॉट खेलता था। यह लगभग वैसा ही था जैसे वह वार्न के साथ बिल्ली और चूहे खेल रहा था। शेन वार्न के साथ सभी बल्लेबाज बिल्ली और चुहा नहीं खेल सकते क्योंकि वह प्रतिभाशाली थे। लेकिन, सचिन तेंदुलकर वार्न के साथ मजबूती से खेल रहे थे और ऐसा अक्सर नहीं होता है।

Next Story
Share it