विदेश

रेड क्रास ने जारी की एक खबर- वियतनाम के सामने खङी है एक घातक बाढ आपदा

Janprahar Desk
20 Oct 2020 11:06 PM GMT
रेड क्रास ने जारी की एक खबर- वियतनाम के सामने खङी है एक घातक बाढ आपदा
x
रेड क्रास का कहना है कि वियतनाम इस साल एक साथ दो बड़ी आपदाओं का सामना कर रहा हैं- एक तो वह पहले से ही कोरोना महामारी से झूज रहा था और वहीं दूसरी ओर बाढ ने भी अपना प्रभाव दिखा दिया।

कुछ दिनों से वियतनाम प्रकृति की दोहरी मार झेल रहा हैं, एक तरफ उसके सामने कोरोना महामारी की समस्या हैं तो दूसरी ओर बाढ ने वहां लोगों का जीवन मुश्किल कर दिया है। इसी महिने पनपी बाढ और भुस्सलखाने की समस्या ने अब तक 100 लोगों की जान ले ली हैं और कई लोग लापता हैं। हर जगह केवल पानी ही पानी है, किसी मासूम का घर हो, सड़क या फिर कोई बुनियादी इमारत, आज सब कुछ पानी में डूबा पड़ा हैं।

मौसम विभाग की माने तो आने वाले दिनों में और बारिश के आने के अनुमान है जिसका प्रभाव इस बाढ पर पड़ेगा और स्थिति और बिगड़ सकती है। वियतनाम रेड क्रासॅ सोसायटी के अध्यक्ष 'गुयेन थिन जुआन थू' के अनुसार- 'यह दशकों में देखी गई हमारे द्वारा सभी विनाशकारी बाढो में से सबसे बुरी हैं।' यह स्थितियां लोगों की जिंदगी और उनकी आजीविका पर प्रभाव डाल रही हैं।

रेड क्रास ने बयान दिया है कि "हम अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं कि लोगों को नाव, हवा और जमीन पर भोजन, सुरक्षित पानी और अन्य आवश्यक सामानों से तत्काल राहत मिले।" रेड क्रॉस के अधिकारी 'क्रिस्टोफर रस्सी' ने माना हैं कि यह बाढ वियतनाम को गरीब कर देंगी।

तूफान लिन्फा और स्टॉर्म नांगका ने वियतनाम पर ऐसा आक्रोश लाया कि तकरीबन 90,000 लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा। माना जा रहा है कि जल्द ही एक तीसरा स्टार्मॅ स्थिति को और बिगाड़ सकता है। भूस्खलन ने रविवार तड़के क्वांग ट्रो में एक सैन्य बैरक को दफन कर दिया, जिसमें 22 सैनिकों और अधिकारियों की मौत हो गई।

राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में लोगों की मदद के लिए 9,600 से अधिक सैनिकों, पुलिस अधिकारियों और नागरिक स्वयंसेवकों को खड़ा करने का आह्वान किया है।अब देखना यह है कि यह आपदा अपने साथ कितना प्रकोप लेकर आई हैं।

Next Story
Share it