विदेश

पाकिस्तान ने की भारत को तालिबान के नाम पर डराने की नाकाम कोशिश, तालिबान के अधिकृत प्रवक्ता ने सभी धमकियों का खंडन किया

Janprahar Desk
20 May 2020 10:42 PM GMT
पाकिस्तान ने की भारत को तालिबान के नाम पर डराने की नाकाम कोशिश, तालिबान के अधिकृत प्रवक्ता ने सभी धमकियों का खंडन किया
x
हाल ही में बहुत-सी खबरें आ रही थी जिसमे अफगानी तालिबान (Islamic Emirates of Afghanistan) ने ईद-उल-फ़ित्र के बाद भारत से जंग लड़ने की घोषणा की है। इससे पाकिस्तान के एक ख़ास तबके में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी थी। हालाँकि ताज़ा मिली खबर और शोध के बाद ये बात सामने आयी है कि वो

हाल ही में बहुत-सी खबरें आ रही थी जिसमे अफगानी तालिबान (Islamic Emirates of Afghanistan) ने ईद-उल-फ़ित्र के बाद भारत से जंग लड़ने की घोषणा की है। इससे पाकिस्तान के एक ख़ास तबके में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी थी। हालाँकि ताज़ा मिली खबर और शोध के बाद ये बात सामने आयी है कि वो सारी घोषणाएं Taliban के फ़र्ज़ी ट्विटर एकाउंट्स द्वारा किये गए थे। ये सारे भारत विरोधी ट्वीट्स अफगानी तालिबान के अधिकृत प्रवक्ता के नाम से एक फ़र्ज़ी अकाउंट द्वारा पोस्ट किये जा रहे थे।

शुरू में इन सभी घोषणाओं को अंतर्राष्ट्रीय मीडिया में काफी उछाला गया था। हालाकिं बाद में इस सच्चाई पर से पर्दा उठ गया जिसमे इन सभी ट्वीट्स को कुछ पाकिस्तान के नागरिकों ने और वहां के अभिनेताओं ने अफ़ग़ानिस्तान के तालिबानी सेना के प्रति एक खौफ पैदा करने के लिए हर जगह उछाला था।

ध्यान में रखा जाये कि ये सभी घोषणाएं उसी वक्त की गयी जब Zalmay Khalilzad अपने अफगानिस्तान के दौरे पर थे। Zalmay अमेरिका की तरफ से अफ़ग़ानिस्तान में विशेष प्रतिनिधि के तौर पर गए थे। उन्होंने तालिबान और काबुल के बीच बढ़ते तनाव को शांत करने में भारत के प्रयासों का पुरज़ोर समर्थन किया। तालिबान के प्रवक्ता के फ़र्ज़ी ट्विटर अकाउंट पे विभिन्न ट्वीट्स मिले जिनमे भारत के ऊपर जिहाद खोलने का ज़िक्र मिला। कई ट्वीट्स में ये भी पाया गया कि भारत को कथित तौर पर दो रास्ते दिए जायेंगे। उनमे से एक होगा आत्म-समर्पण और दूसरा होगा लड़ना और अंततः गज़वा-ए-हिन्द को कायम होते हुए देखना। इस फ़र्ज़ी अकाउंट को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है। और ऐसे ही जितने भी भारत-विरोधी एकाउंट्स मिले हैं , उन पर कड़ी निगरानी रखी है।

इन सभी अटकलों पर पूर्ण विराम लगाया अफ़ग़ान तालिबान के अधिकृत प्रवक्ता सुहैल शाहीन के ट्वीट ने। उन्होंने सभी भारत विरोधी घोषणाओं का कड़ा विरोध किया और ये ज़ाहिर किया कि इन सभी बातों का Islamic Emirate के साथ कोई भी ताल्लुख नहीं है। उन्होंने ये भी बताया कि Taliban कभी भी किसी देश के आंतरिक मामलों में दखलंदाज़ी नहीं करता और न ही आगे करेगा।

Next Story
Share it