दुनियाभर में गधों के मामले में तीसरे नंबर पर पहुंचा पाकिस्तान, तेजी से क्यों बढ़ रही गधों की आबादी? जानिए कारण

पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार आ जाने के बाद गधों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में सालाना एक लाख गधों की आबादी बढ़ती जा रही है। वहीं, इमरान खान की सरकार आने के बाद से 3 साल में 3 लाख गधों की संख्या बढ़ी है।
 
Pakistan

- पाकिस्तान हर साल चीन को 80 हजार गधों का निर्यात करता है।

- गधे की खाल से निकलने वाले जिलेटिन से चीन कई प्रकार की दवाएं बनता है। 

पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार आ जाने के बाद गधों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में सालाना एक लाख गधों की आबादी बढ़ती जा रही है। वहीं, इमरान खान की सरकार आने के बाद से 3 साल में 3 लाख गधों की संख्या बढ़ी है, इसके पीछे के वजह प्राकृतिक प्रजनन नहीं बल्कि कारोबार है। 

दरअसल पाकिस्तान हर साल चीन को 80 हजार गधों का निर्यात करता है। चीन इन गधों के खाल का उपयोग कई प्रकार से किया जाता है गधे के मांस को खाने के साथ ही इसकी खाल से निकलने वाले जिलेटिन से कई प्रकार की दवाएं बनाई जाती है। 

आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान में ऊंट, घोड़े और खच्चर सहित अन्य जानवरों की जनसंख्या वृद्धि 13 सालों से जस की तस है लेकिन गधों की संख्या सालाना 1 लाख बढ़ती जा रही है। मौजूदा समय में पाकिस्तान में 56 लाख गधे है, जो दुनियाभर में गधों के मामले में तीसरे नंबर पर है। 

रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान में गधों के नस्लों के हिसाब से उनके दाम तय किये जाते है, गधे की खाल के 15-20 हजार पाकिस्तानी रुपये कीमत है। वहीं, कई चीनी कंपनियां पाकिस्तान में गधों के व्यापार के लिए लाखों डॉलर प्रतिवर्ष निवेश करती है। 

Also Read: टिका लगवाने पर दिया जा रहा एक पैकेट मुफ्त गांजा, इस राज्य में मिल रहा ऐसा आफर

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|