विदेश

लेबनान : विस्फोट के बाद  2 हफ्ते का लॉकडाउन ,सरकार ने दे दिया इस्तिफा

Janprahar Desk
19 Aug 2020 5:01 PM GMT
लेबनान : विस्फोट के बाद  2 हफ्ते का लॉकडाउन ,सरकार ने दे दिया इस्तिफा
x

लेबनान में लगे लोग डाउन में काफी गाइडलाइन का ऐलान किया गया है ।वहां के कार्यवाहक स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि विस्फोट के बाद कोरोना संक्रमण के मामले काफी बढ़ रहे हैं। 2 हफ्ते का लॉकडाउन लगा दिया गया है ।इस दौरान मेडिकल सुविधाएं चलती रहेंगी। लेबनान की राजधानी बेरूत में  हुए धमाके को लेकर मंत्रिमंडल ने इस्तीफा दे दिया है।

लेबनान में कुछ दिनों पहले विस्फोट की घटना हुई थी और उस विस्फोट के बाद कोरोना के मामले ज्यादा बढ़ने लगे हैं ।कोरोना के केस इतने ज्यादा बढ़ चुके हैं कि वहां 2 हफ्ते का लॉकडाउन लगाया गया है।
बता दें कि लेबनान के बेरूत  पोर्ट के पास 4 अगस्त को विस्फोट रूपी घटना हुई थी ।जिसमें लगभग 200 लोगों की भयंकर मौत हुई थी। लोग सड़कों पर आ गए थे 
कई लोगों ने अपने सगे संबंधियों को खो दिया। हालात काफी गंभीर थे ।लोग खाना भी नहीं खा पा रहे थे।

लेबनान में लगे लोग डाउन में काफी गाइडलाइन का ऐलान किया गया है ।वहां के कार्यवाहक स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि विस्फोट के बाद कोरोना संक्रमण के मामले काफी बढ़ रहे हैं। 2 हफ्ते का लॉकडाउन लगा दिया गया है ।इस दौरान मेडिकल सुविधाएं चलती रहेंगी।

लेबनान की राजधानी बेरूत में  हुए धमाके को लेकर मंत्रिमंडल ने इस्तीफा दे दिया है।कई मंत्रियों के इस्तीफे और कुछ मंत्रियों के पद से हटने की इच्छा जाहिर करने के बाद बने दबाब में यह फैसला किया गया। धमाके के विरोध में बेरूत में पिछले दो दिन में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प हुई है। हमाद ने कहा, ‘‘समूची सरकार ने इस्तीफा दे दिया है।’’ साथ ही उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री हसन दियाब राष्ट्रपति भवन में सभी मंत्रियों का इस्तीफा सौंप देंगे। गौरतलब है कि गत 4 अगस्त को हुए विस्फोट में 160 लोगों की मौत हुई थी और लगभग छह हजार लोग घायल हुए थे।

इसके अलावा देश का मुख्य बंदरगाह नष्ट हो गया था और राजधानी के बड़े हिस्से को नुकसान हुआ था। माना जाता है कि भंडार में रखे गए 2750 टन अमोनियम नाइट्रेट में आग लगने से विस्फोट हुआ। बंदरगाह के पास भंडार घर में इसे 2013 से ही संग्रहित कर रखा गया था। विस्फोट से 10 अरब डॉलर से लेकर 15 अरब डॉलर के नुकसान की आशंका व्यक्त की गयी है और धमाके के बाद करीब तीन लाख लोग बेघर हो गए।

Next Story
Share it