विदेश

ईरानी सेना ने कहा- ग़लती से मार गिराया था यूक्रेन का यात्री विमान।

Janprahar Desk
11 Jan 2020 10:47 AM GMT
ईरानी सेना ने कहा- ग़लती से मार गिराया था यूक्रेन का यात्री विमान।
x
यूक्रेन के यात्री विमान को उसने मार गिराया था. इस विमान में 176 लोग सवार थे. ईरान की तरफ़ से आए बयान में इसे मानवीय भूल कहा गया है. इससे पहले ईरान इस बात से इनकार कर रहा था कि उसने प्लेन को मार गिराया है. अमरीका और कनाडा ने अपनी ख़ुफ़िया सूचना के आधार

यूक्रेन के यात्री विमान को उसने मार गिराया था. इस विमान में 176 लोग सवार थे. ईरान की तरफ़ से आए बयान में इसे मानवीय भूल कहा गया है.

इससे पहले ईरान इस बात से इनकार कर रहा था कि उसने प्लेन को मार गिराया है. अमरीका और कनाडा ने अपनी ख़ुफ़िया सूचना के आधार पर कहा था कि ईरान ने इस विमान को मार गिराया था. यह विमान यूक्रेन की राजधानी कीएफ़ जा रहा था. इसमें 167 पैसेंजर और चालक दल के नौ सदस्य थे. इस फ़्लाइट में ईरान के 82, कनाडा के 13 और यूक्रेन के 11 नागरिक सवार थे.

अमेरिका (America) और ईरान (Iran) के बीच तनाव की वजह से 176 बेकसूर लोगों की जान चली गई. ईरान की रिवॉल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (IRGC) के मुखिया और उसकी क्षेत्रीय सुरक्षा व्यवस्था के आर्किटेक्ट जनरल कासिम सुलेमानी (Qasem Soleimani) की मौत के बाद से शुरू हुए इस विवाद में एक गलती ने 176 लोगों की जान ले ली.

ईरान की राजधानी तेहरान से यूक्रेन के यात्री विमान के उड़ान भरने के चंद मिनटों बाद उसके क्रैश होने की खबरें आई थीं. अमेरिका, यूके और कनाडा ने शक जाहिर किया था कि प्लेन क्रैश होने की घटना टेक्निकल नहीं थी बल्कि ईरान ने उसे मार गिराया था.

और कहता रहा कि यह दुर्घटना मानवीय चूक के चलते हुए है। हालांकि अमेरिका, यूक्रेन और कनाडा ने कहा था कि उन्हें विश्वास है कि ईरान ने ही विमान को मार गिराया है। कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने कहा था कि शायद ईरान ने यह विमान अनजाने में गिरा दिया है। यह विमान यूक्रेन की राजधानी कीव जा रहा था।

Next Story
Share it