विदेश

अगर माइक्रोसॉफ्ट में टिक टॉक को खरीद लिया तो टिक टॉक की भारत में वापस एंट्री हो सकती है

Janprahar Desk
7 Aug 2020 8:18 PM GMT
अगर माइक्रोसॉफ्ट में टिक टॉक को खरीद लिया तो टिक टॉक की भारत में वापस एंट्री हो सकती है
x
टिक टॉप चाइनीस ऐप है, जिस पर सबसे पहले भारत ने जून के आखिरी सप्ताह में बैन लगाया था। टिक टॉक पर बैन लगाने का मुख्य कारण लद्दाख की गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प का परिणाम था। उसके बाद अमेरिका ने चाइनीस ऐप टिक टॉक पर बैन लगाया और बैन को मंजूरी दी। मंजूरी देने के ठीक 45 दिन बाद अमेरिका में भी टिक टॉक पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया जाएगा। हाल ही में एक मल्टीनेशनल कंपनी माइक्रोसॉफ्ट टिक टॉक एप को खरीदने का विचार कर रही है।

टिक टॉक एक शॉट वीडियो क्रिएटर एप है ।टिक टॉप चाइनीस ऐप है, जिस पर सबसे पहले भारत ने जून के आखिरी सप्ताह में बैन लगाया था। टिक टॉक पर बैन लगाने का मुख्य कारण लद्दाख की गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प का परिणाम था। उसके बाद अमेरिका ने चाइनीस ऐप टिक टॉक पर बैन लगाया और बैन को मंजूरी दी। मंजूरी देने के ठीक 45 दिन बाद अमेरिका में भी टिक टॉक पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया जाएगा। ट्रम्प ने कहा है कि चाइनीज ऐप राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति और अर्थव्यवस्था के लिए खतरा बने हुए हैं। इस वक्त खासतौर से टिकटॉक पर कार्रवाई को लेकर आदेश जारी किया गया है। टिकटॉक ऑटोमैटिकली यूजर की जानकारी हासिल कर लेता है।

हाल ही में एक मल्टीनेशनल कंपनी माइक्रोसॉफ्ट टिक टॉक एप को खरीदने का विचार कर रही है। और माना जा रहा है कि यदि माइक्रोसॉफ्ट ने 15 सितंबर से पहले टिक टॉक को नहीं खरीदा तो अमेरिका में भी टिक टॉक पर पूर्ण रूप से बैन लग जाएगा ।

ऑस्ट्रेलिया की बात की जाए तो ऑस्ट्रेलिया में भी राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर जांच चल रही है और टिक टॉक को बैन करने के आसार नजर आ रहे हैं ।इसी के साथ जो लोग टिक टॉक को पसंद करते हैं उनके लिए एक काफी अच्छा समाचार है ।चीन के पॉपुलर शॉर्ट वीडियो एप , टिक टॉक की भारत में एक बार फिर से एंट्री हो सकती है। इसका कारण सिर्फ एक ही है कि अमेरिका की दिग्गज सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट टिक टॉक का ग्लोबल बिजनेस खरीदने पर विचार कर रही है।

इसमें भारत और यूरोप का कारोबार भी शामिल हो सकता है ।इस मामले से वाकिफ सूत्रों के हवाले से फाइनेंशियल टाइम्स की एक रिपोर्ट में दावा किया गया है। हालांकि, माइक्रोसॉफ्ट ने साफ-साफ नहीं बताया गया है कि डील होगी तो वह यूजर के डेटा की सेफ्टी के लिए क्या करेगी? टिकटॉक के अमेरिका में करीब 30 मिलियन एक्टिव यूजर हैं। इस साल अमेरिका में टिकटॉक की जॉब ग्रोथ तीन गुना रही है। जनवरी में 500 के मुकाबले अब अमेरिका में टिकटॉक के 1400 कर्मचारी हो गए हैं।

Next Story