विदेश

चीन: लिंगानुपात का असंतुलन बन सकती है बड़ी समस्या!

Janprahar Desk
16 Jun 2020 10:52 PM GMT
चीन: लिंगानुपात का असंतुलन बन सकती है बड़ी समस्या!
x
1970 के दशक से ही चीन में अंधाधुंध जनसंख्या वृद्धि को देखते हुए परिवार नियोजन की नीति लागू की गई थी। इस नीति के अनुसार चीन में रहने वाले नगरीय दंपतियों को एक बच्चा और ग्रामीण दंपतियों को 2 बच्चे पैदा करने का अधिकार है ।
1970 के दशक से ही चीन में अंधाधुंध जनसंख्या वृद्धि को देखते हुए परिवार नियोजन की नीति लागू की गई थी। इस नीति के अनुसार चीन में रहने वाले नगरीय दंपतियों को एक बच्चा और ग्रामीण दंपतियों को 2 बच्चे पैदा करने का अधिकार है । इससे ज्यादा बच्चे पैदा करने पर कई सालों तक उनका वेतन कट सकता है या जेल में भेजने का प्रावधान है।

इस नीति के कई दुष्प्रभाव ,समय के साथ देखने को मिले हैं ।चीन की दशकों पुरानी, एक-बच्चा नीति के दुष्प्रभावों को कम करने के लिए शंघाई की फुडान यूनिवर्सिटी के एक प्रोफेसर ने बहुत ही हसीन सुझाव दिया । इकोनॉमिक्स के प्रोफेसर इयू-क्वांग एनजी ने एक गहरा सुझाव दिया है। उन्होंने कहा है कि चीन में महिलाओं को एक से अधिक पति रखने की इजाजत देनी चाहिए ।यानी हर महिला को दो पति रखने की इजाजत होनी चाहिए ।उनका यह सुझाव एक बिजनेस वेबसाइट पर लिखे कॉलम में देखा गया है। इसका एकमेव शीर्षक है," क्या बहूपतित्व वास्तव में हास्यप्रद विचार है"?
क्वांग ने लिखा है, " यदि लिंगानुपात इतना असंतुलित नहीं होता तो मैंने पाॅलेंड्री (एक से अधिक पति रखना ) का सुझाव नहीं दिया होता। मैं बहूपतित्व की वकालत नहीं कर रहा हूं ।मैं सिर्फ सुझाव दे रहा हूं कि हमें असंतुलित लिंग अनुपात के विकल्प पर विचार करना चाहिए।"

चीन में इस समय लिंगानुपात 117 :100 है ।यानी 117 लड़कों पर सिर्फ 100 लड़कियां ही हैं। इससे भविष्य में कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है ।यह भी हो सकता है कि आगे आने वाले समय में लड़कों को शादी के लिए लड़कियां ही ना मिले।
Next Story
Share it