विदेश

Corona Virus से लड़ने के लिए अमेरिका ने फिर लगाई भारत से मदद की गुहार।

Janprahar Desk
7 April 2020 9:58 AM GMT
Corona Virus से लड़ने के लिए अमेरिका ने फिर लगाई भारत से मदद की गुहार।
x
अमेरिका में कोरोनावायरस (Corona Virus) का कहर तेजी से फैल रहा है. वहां कोरोना संक्रमण (Covid-19) के अब तक तीन लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। इस बीच, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने भारत से कोरोना के मरीजों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा मलेरिया रोधी दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine)

अमेरिका में कोरोनावायरस (Corona Virus) का कहर तेजी से फैल रहा है. वहां कोरोना संक्रमण (Covid-19) के अब तक तीन लाख से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। इस बीच, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने भारत से कोरोना के मरीजों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा मलेरिया रोधी दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) के निर्यात पर लगी रोक को हटाने की मांग की है। ट्रंप ने संकेत दिया है कि यदि भारत हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात पर लगे प्रतिबंध को हटाकर अमेरिका को इस दवा की आपूर्ति नहीं करता है तो वह इसका जवाब दे सकते हैं।

ट्रंप ने सोमवार को कोरोनावायरस टास्कफोर्स ब्रीफिंग के दौरान व्हाइट हाउस में कहा कि भारत अमेरिका के साथ अच्छा कर रहा है और मुझे ऐसा कोई कारण नहीं दिखता कि भारत अमेरिका के दवा के ऑर्डर पर रोक जारी रखेगा। उन्होंने कहा, “मैंने रविवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से बात की थी और मैंने कहा था कि अगर आप हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की आपूर्ति को मंजूरी देते हैं तो हम आपके इस कदम की सराहना करेंगे। यदि वह दवा की आपूर्ति की अनुमति नहीं देते हैं तो भी ठीक है, लेकिन हां, वे हमसे भी इसी तरह की प्रतिक्रिया की उम्मीद रखें।”

इससे पहले भी अमेरिका कोरोना मरीजों के इलाज के लिए भारत से इस दवा की मांग कर चुका है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शनिवार को बताया है कि उन्होंने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की है और उनसे हाइड्रोक्लोरोक्वीन दवाई देने के गुजारिश की है ताकि कोरोना वायरस के मरीजों का इलाज किया जा सके। अमेरिका के राष्ट्रपति ने कहा कि फोन पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की है और भारत इस दवा की सप्लाई अमेरिका में सप्लाई के लिए गंभीर है। इस बीच राष्ट्रपति ट्रंप यह भी बताने से नहीं झिझके कि वह खुद भी इस दवा को खाएंगे।

आपको बता दें कि कोरोना वायरस महामारी से पैदा हुई स्थिति से निपटने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ शनिवार को विस्तृत बातचीत की। दोनों नेताओं ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में भारत-अमेरिका साझेदारी की पूरी ताकत का उपयोग करने का संकल्प लिया. बता दें कि भारत ने कोरोना के खतरे को देखते हुए इस दवा के निर्यात पर प्रतिबंध लगा रखा है।

Next Story
Share it