विदेश

कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में 8 भारतीय-कनाडाई उम्मीदवार बने विधायक

Janprahar Desk
25 Oct 2020 5:07 PM GMT
कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में 8 भारतीय-कनाडाई उम्मीदवार बने विधायक
x
कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में 8 भारतीय-कनाडाई उम्मीदवार बने विधायक
कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में 8 भारतीय-कनाडाई उम्मीदवार बने विधायकवैंकूवर (कनाडा), 25 अक्टूबर (आईएएनएस)। कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया प्रांत की 87 सदस्यीय विधानसभा के लिए आठ इंडो-कैनेडियन चुने गए हैं।

शनिवार को हुए चुनावों में 27 भारतीय मूल के उम्मीदवार मैदान में थे।

सभी आठ विजेता सत्तारूढ़ न्यू डेमोक्रेटिक पार्टी के हैं, जिन्होंने 87 सदस्यीय सदन में 55 सीटों के साथ पूर्ण बहुमत हासिल किया।

भारतीय-कनाडाई विजेताओं में तीन महिलाएं भी हैं।

प्रसिद्ध मानवाधिकार वकील अमन सिंह ने ब्रिटिश कोलंबिया में पहली बार पगड़ीधारी सिख विधायक बनकर इतिहास रचा, हालांकि इस प्रांत में पहली बार 1986 में एक विधायक के रूप में पंजाबी (मोए सिहोटा) और 2001 में एक सिख (उज्ज्वल दोसांझ) विधायक के रूप में चुने गए रिचमंड-क्वींसबोरो में विपक्षी लिबरल पार्टी के पूर्व पत्रकार जैस जौहल को हराकर अमन सिंह ने एक बड़ा उलटफेर किया।

भारतीय-कनाडाई की अधिकांश जीतें भारतीय-प्रभुत्व वाले शहर सरे से आई जो वैंकूवर के बाहरी इलाके में स्थित है।

प्रमुख विजेताओं में श्रममंत्री हैरी बैंस, डिप्टी स्पीकर राज चौहान, पूर्व मंत्री जिनी सिम्स और संसदीय सचिव जगरूप ब्रार और रवि कहलों शामिल हैं।

बैंस ने लिबरल पार्टी के पॉल बोपाराय को हराकर सरे-न्यूटन की अपनी सीट बरकरार रखी। जालंधर के पास हरदासपुर गांव से आने वाले बैंस 2005 से यह सीट जीत रहे हैं।

उप सभापति राज चौहान ने भी लिबरल पार्टी के तृप्त अटवाल और ग्रीन पार्टी के इकबाल पारेख को हराकर बर्नाबी-एडमंड्स की अपनी सीट बरकरार रखी। चौहान 1973 में छात्र के रूप में पंजाब से कनाडा आए थे।

सत्तारूढ़ दल के जगरूप ब्रार ने लिबरल पार्टी के गैरी थिंड को भी पीछे छोड़कर सरे-फ्लीटवुड की अपनी सीट बरकरार रखी।

एक पूर्व भारतीय बास्केटबॉल खिलाड़ी, ब्रार ने 2004 से अब तक पांच बार ये सीट जीती है।

जीतने वाले पांचवें इंडो-कनाडाई व्यक्ति सत्तारूढ़ एनडीपी के रवि काहलों हैं, जिन्होंने ग्रीन पार्टी के अल्मोड़ा में जन्मी नीमा मनराल और लिबरल पार्टी के जेट सनर (जतिंदर) को मात दी।

महिला विजेताओं में, जेनी सिम्स (जोगिंदर कौर) ने सरे-पैनोरमा निर्वाचन क्षेत्र में अपने साथी पंजाबी डॉ. गुलजार चीमा को हराया। जालंधर के पास पाबवान गांव में जन्मी सिम्स नौ साल की उम्र में कनाडा आ गई थी।

सत्तारूढ़ पार्टी के रचना सिंह ने लिबरल पार्टी के दिलराज अटवाल को हराकर अपनी सरे-ग्रीन टिम्बर्स सीट को बरकरार रखा।

सत्तारूढ़ एनडीपी की निक्की शर्मा वैंकूवर-हेस्टिंग्स में जीतीं।

ब्रिटिश कोलंबिया की आबादी 50 लाख हैं, जिसमें से लगभग 10 प्रतिशत भारतीय मूल के लोग हैं।

--आईएएनएसट

एसकेपी/एसजीके

Next Story
Share it