टेक्नोलॉजी

ऑनलाइन शॉपिंग कर रहे हैं तो हो जाएं अलर्ट, ये फर्जी ई-कॉमर्स वेबसाइट लगा रहीं भारतीयों को चूना

Ankit Singh
10 April 2022 7:34 AM GMT
ऑनलाइन शॉपिंग कर रहे हैं तो हो जाएं अलर्ट, ये फर्जी ई-कॉमर्स वेबसाइट लगा रहीं भारतीयों को चूना
x
इन दिनों ई-कॉमर्स वेबसाइट्स की ढेर लग चुकी है, जिस कारण फ्रॉड के मामले में भी बढ़ गए है। इस खबर में हम एक ऐसी ई-कॉमर्स वेबसाइट के बारें में बताएंगे जो बिल्कुल ही फेक है और भारतीयों को ठगने का काम कर रही है। तो आप भी भूल से इस वेबसाइट के जरिए कोई भी समान न खरीदें।

भारत में जिस तेजी से डिजिटाइजेशन ने रफ्तार पकड़ी है, उतनी ही तेजी से ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले भी सामने आने लगे हैं। इंटरनेट ने भले ही हमारा काम आसान कर दिया हो, लेकिन इसकी मदद से बैठे-बैठे ही बड़े से बड़ा फ्रॉड भी कर लिया जाता है। देश में कई फर्जी और मैलेशियस ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म बढ़ गए हैं, जो किचन एप्लायंसेस से लेकर खाने पीने का सामान ऑनलाइन बेच रहे है। यूजर्स प्रोडक्ट की कम कीमत देखकर आकर्षित हो जाते है और प्रोडक्ट आर्डर करने के लिए ऑनलाइन पेमेंट कर देते है। जिसके बाद वह खुद को ठगा हुआ महसूस करते है।

एक ऐसा ही ई-कॉमर्स पोर्टल है जिसका नाम prachiworld.in है। यह पोर्टल इन दिनों भारतीय यूजर्स को ठगने का काम कर रहा है। इस वेबसाइट पर किचन एप्लायंसेस, किड्स वियर, शूज, साईकल से लेकर खाने पीने के प्रोडक्ट्स उपलब्ध है। सभी प्रोडक्ट्स की कीमतों को इतने कम प्राइस में दिखाया गया है कि यूजर्स झांसे में आकर तुरंत आर्डर प्लेस कर देते है। हांलाकि ऐसे पेमेंट करने के बाद प्रोडक्ट आर्डर तो नहीं होता बल्कि यूजर्स के पैसे उनके खाते से कट जाते है।

ऐसे कई यूजर्स है जिन्होंने बताया कि उन्होंने prachiworld.in से ऑनलाइन समान ऑर्डर किया और पेमेंट की लेकिन कोई जवाब नहीं मिला और उनका ऑर्डर डिलीवर भी नहीं हुआ।

इस पोर्टल पर साईकल के सेक्शन में जाने पर स्पोर्ट्स साईकल जिसकी कीमत 10 से 15 हजार मार्केट प्राइस है, वह 750 रुपए से लेकर 999 रुपए की कीमत पर दिखाएं जा रहे है। वहीं, शूज वाले सेक्शन में PUMA, Nike, Reebok जैसे ब्रांडेड कंपनी के शूज जिसकी मार्केट में कीमत 7 हजार से 10 हजार के बीच है, वह इस पोर्टल पर 499 रुपए पर बिक्री के लिए उपलब्ध दिखाएं जा रहे है। ऐसे आकर्षक प्राइस ऑफर लोगों को लुभाने के लिए रखें गए है, यह पोर्टल पूरी तरह से फर्जी है जो लोगों को ठगने का काम कर रही है।

इस पोर्टल के कांटेक्ट डिटेल में जितने भी आईडी और कांटेक्ट नंबर दिए गए है वह सब फर्जी है। इसके अलावा वेबसाइट की न ही कोई ओनरशिप डिटेल दी गई है और न ही इस्टैब्लिशमेंट ईयर बताया गया है। अगर इस पोर्टल से कोई भी समान आर्डर करते है तो आपका आर्डर डिलीवर नहीं होगा और आपका पैसा फंस जाएगा। रिटर्न और रिफंड के लिए अप्लाई करने पर आपको कोई प्रतिक्रिया नहीं मिलेगी।

साइबर एक्सपर्ट्स के अनुसार ऐसी किसी भी वेबसाइट से बचकर रहना चाहिए। इस तरह के नकली ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के शिकार होने से बचने का एकमात्र तरीका फ्लिपकार्ट, अमेजन आदि जैसी प्रमुख कंपनियों पर भरोसा करना और उनके माध्यम से ऑनलाइन खरीदारी करना है।

धोखाधड़ी होने पर कहां करें शिकायत?

अगर आप भी कभी ऑनलाइन शॉपिंग बाजार के फ्रॉड में फंस जाते हैं, तो इस फ्रॉड के लिए इन ऑनलाइन वेबसाइट के खिलाफ Complaint दायर कर सकते हैं। आप इस तरह के ऑनलाइन फ्रॉड के लिए कंज्यूमर कोर्ट में जा सकते हैं।

ग्राहक उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट consumerhelpline.gov.in पर भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। ग्राहक नेशनल कंज्यूमर हेल्पलाइन नंबर 1800-11-4000 या 14404 पर कॉल करके आप शिकायत कर सकते हैं।

लेकिन पहले ध्यान रखें कि अगर आपके साथ लेन देन में फ्रॉड हुआ है तो पहले पुलिस या साइबर सेल में मामला दर्ज कराएं। अगर कंपनी ट्रेस नहीं हो पा रही है तो कंज्यूमर प्रोटेक्शन एक्ट के तहत ग्राहक कंज्यूमर फोरम जा सकते हैं।

ये भी पढें-

सिर्फ 6 सेकेंड में हैक हो सकता है आपका डेबिट या क्रेडिट कार्ड, जानिए धोखाधड़ी से कैसे करें बचाएं?

UPI Frauds: बढ़ रहे है यूपीआई से धोखाधड़ी के मामले, एकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए करें ऐसा

इन 5 तरीकों से चुटकियों में लगाए फेक SMS का पता | How to Detect Fake SMS in Hindi

क्या आपको पता है Vishing के बारे में ! इससे जालसाज खाली कर देंगे आपका बैंक अकाउंट, जानिए बचने के उपाय...

Next Story