टेक्नोलॉजी

इन 5 तरीकों से चुटकियों में लगाए फेक SMS का पता | How to Detect Fake SMS in Hindi

Ankit Singh
4 March 2022 9:26 AM GMT
इन 5 तरीकों से चुटकियों में लगाए फेक SMS का पता | How to Detect Fake SMS in Hindi
x
Way to Spot a Fake SMS: इन दिनों ऑनलाइन धोखाधड़ी का मामला बढ़ गया है, जालसाज फेक SMS के जरिए लोगों को एकाउंट में सेंध लगा रहे है। ऐसे में आपको यह समझना जरुरी है कि कौन सा समझ फर्जी है। यहां 5 तरीके बता रहे है जिससे आप चुटकियों में फेक SMS का पता लगा सकते है।

How to Detect Fake SMS: 'बधाई हो! आपको 1,00,000 रुपये के लकी ड्रा के लिए नॉमिनेटेड किया गया है। कृपया राशि प्राप्त करने के लिए अपने मोबाइल नंबर पर भेजे गए OTP को शेयर करें'

अगर आपको कभी ऐसा कोई मेसेज प्राप्त हुआ है, तो आपको पता होना चाहिए कि यह एक फ्रॉड है, जिसे ऑनलाइन ऑनलाइन डिजिटल फ्रॉड कहते है। ऐसे फर्जी मैसेज आपको कई बार मिले होंगे। अगर आप नहीं, तो निश्चित रूप से ऐसे कई लोग होंगे जो इस तरह के डिजिटल धोखाधड़ी के शिकार हो गए हैं, जहां लोग अपनी बैंकिंग डिटेल दे देते है और बड़ी मात्रा में धन खो देते हैं।

ऑनलाइन फ्रॉड काफी आम है और अक्सर यूजर को बहुत ही वास्तविक अंदाज में पेश किया जाता है। ये ज्यादातर SMS, मैसेज और ईमेल के माध्यम से शेयर किए जाते हैं। हालांकि ऐसे मैसेज या धोखाधड़ी का पता लगाना एक लंबा काम है, फिर भी ब्लॉग में दी गई तरकीबों का पालन करके उनसे बचा जा सकता है।

इस ब्लॉग में हम चुटकियों में फेक SMS का पता लगाने के लिए कुछ टिप्स शेयर करेंगे और बताएंगे कि ऑनलाइन डीलिंग करते समय आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

फेक SMS का पता लगाने के 5 तरीके | 5 Way to Spot a Fake SMS

1) अर्जेंट टोन

नकली मैसेज का अंतिम उद्देश्य यूजर्स को अपनी बैंकिंग और अन्य पर्सनल जानकारी जल्द से जल्द शेयर करने के लिए राजी करना है। इसलिए वे इस तरह से लिखे गए हैं जो उस जानकारी की तत्काल आवश्यकता को दर्शाता है जिसका उपयोग यूजर के बैंक एकाउंट को हैक करने या उनके मोबाइल फोन तक पहुंच प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है।

समाधान-

फेक मैसेज का पता लगाना आसान है क्योंकि वे जल्दबाजी दिखाते हैं। ऐसे मैसेज का जवाब न दें, मैसेज के जरिए पूछी जा रही बातों को शेयर न करें। फ्रॉड एक्टिविटीज के बारे में शिकायत दर्ज करने के लिए साइबर सिक्योरिटी टीम से जुड़ें।

2) अज्ञात सेंडर

यूजर को फेक SMS भेजने के लिए अज्ञात और unauthorized नंबरों का उपयोग किया जाता है। ऐसे SMS यूजर्स के मोबाइल फोन और अन्य बैंकिंग और पर्सनल डिटेल तक पहुंच प्राप्त करने के लिए एक जाल की तरह हो सकते हैं। कई बार फ्रॉड होने के बाद ऐसे नंबर अनट्रेस हो जाते हैं।

समाधान-

ऐसे मैसेज पर किसी भी बैंकिंग डिटेल, पर्सनल जानकारी आदि का जवाब न दें और शेयर न करें।

3) कुछ ऑफर करने वाले मैसेज

यह ऐसे SMS होते हैं जो कहते हैं कि यूजर ने कैश अमाउंट प्राप्त किया है या जीता है। ये फेक SMS एक ऐसी स्थिति की तरह दहशत पैदा करते हैं जहां यूजर मैसेज पर अपनी डिटेल शेयर करना समाप्त कर देता है।

समाधान-

हमेशा ऑथोराइज्ड व्यक्ति की सहायता लें। ऐसे SMS के बहकावे में न आएं और तुरंत साइबर सिक्योरिटी टीम को सूचित करें। रिस्पांस देने से पहले दो बार सोचें।

4) एरर और टाइपो

फेक मैसेज में टाइपो, एरर, फॉर्मेटिंग संबंधी समस्याएं, व्याकरण संबंधी त्रुटियां, गलत वाक्य निर्माण आदि शामिल होता है।

समाधान -

फेक SMS असली लगते हैं इसलिए उनके लिखने के तरीके और वाक्य निर्माण, टाइपो आदि के माध्यम से उनका पता लगाना सुनिश्चित करें।

5) संदिग्ध लिंक

नकली मैसेज में unauthorized और संदिग्ध लिंक भी होते हैं। ये लिंक जब क्लिक किए जाते हैं तो यूजर के मोबाइल फोन तक पहुंच प्राप्त करने के साथ-साथ डेटा को ट्रैक और ट्रेस करना आसान बना सकते हैं।

समाधान -

मैसेज के माध्यम से साझा किए जा रहे लिंक पर कभी भी क्लिक न करें। किसी भी एप्लिकेशन को डाउनलोड और अपडेट करने के लिए हमेशा ऑथोराइज्ड प्ले स्टोर का उपयोग करें या अधिक विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

फेक मैसेज से कैसे बचें? | How to Avoid Fake Messages in Hindi

फेक SMS प्राप्त नहीं करना संभव नहीं है, उन्हें अनदेखा करना संभव है। फेक मैसेज से बचने के लिए दिए गए टिप्स को ध्यान से फॉलो करें-

  • अज्ञात स्रोतों या नंबरों से भेजे गए संदेशों का जवाब देने से बचें।
  • अनजान नंबरों पर कॉल न करें।
  • अनजान नंबरों से भेजे गए मैसेज पर लिखे किसी भी निर्देश का पालन न करें।
  • संदिग्ध नंबरों को तुरंत ब्लॉक करें।
  • किसी मैसेज, ईमेल या कॉल पर अपनी बैंकिंग या पर्सनल जानकारी कभी शेयर न करें।
  • हमेशा अधिकृत प्ले स्टोर से ही एप्लिकेशन को अपडेट, अनइंस्टॉल या डाउनलोड करें।
  • ऐसी जानकारी शेयर न करें जो आपको अपना पर्सनल और बैंकिंग डिटेल शेयर करने के लिए मजबूर करें।
  • आप जिस प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, उसकी आधिकारिक वेबसाइट हमेशा देखें।
  • याद रखें कि फ़िशिंग लिंक ngrok.io के साथ समाप्त होते हैं और छोटे URL जैसे TinyURL और bit.ly के साथ।
  • अगर आपने किसी थर्ड पार्टी के साथ जानकारी शेयर की है तो तुरंत अपना एकाउंट ब्लॉक करें।
  • इंटरनेट पर उस ब्रांड, सर्विस या प्रोडक्ट के बारे में जानकारी की पुष्टि करना सुनिश्चित करें जिसमें आप रुचि रखते हैं।
  • ऑनलाइन डिजिटल फ्रॉड के बारे में खुद को शिक्षित करें।
  • अपने बैंकिंग और पर्सनल डिटेल के साथ क्या हो रहा है, इस पर ध्यान दें।

ये भी पढ़ें -

Google Search के लिए अपनाएं ये टिप्स, सटीक कंटेंट को तलाशने में हो जाएगी और भी आसानी

Tips to Reduce Smartphone Bill: स्मार्टफोन का बिल कम करना चाहते है, तो फॉलो करें ये टिप्स

काम की बात, फोन और UPI एड्रेस नहीं है तो भी कर सकेंगे मनी ट्रांसफर, Aadhaar Number से होगा पूरा काम

Useful Apps for Smartphone : बड़े ही काम के है ये ऐप्स, समय की बचत के लिए जरूर इंस्टाल करें

Next Story