अन्य राज्य:

महिला ने ओवैसी (Owaisi) के मंच से लगाया ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ का नारा, पिता बोले- नहीं सुनी मेरी बात।

Janprahar Desk
21 Feb 2020 11:57 AM GMT
महिला ने ओवैसी (Owaisi) के मंच से लगाया ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ का नारा, पिता बोले- नहीं सुनी मेरी बात।
x
कर्नाटक (Karnataka) की राजधानी बेंगलुरु (Bengaluru) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ आयोजित एक रैली के दौरान ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वाली लड़की को अदालत ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। अमूल्या लियोना नाम की इस लड़की ने गुरुवार को रैली के मंच से नारेबाजी की थी। इसके बाद अमूल्या के खिलाफ

कर्नाटक (Karnataka) की राजधानी बेंगलुरु (Bengaluru) में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ आयोजित एक रैली के दौरान ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाने वाली लड़की को अदालत ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। अमूल्या लियोना नाम की इस लड़की ने गुरुवार को रैली के मंच से नारेबाजी की थी। इसके बाद अमूल्या के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 124 ए (राजद्रोह) के तहत मामला दर्ज किया गया। इस रैली का आयोजन ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने किया था।

पाकिस्तान के समर्थन में नारे सुनते ही AIMIM नेता असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने तुरंत लड़की को रोकने की कोशिश की। उन्होंने इस नारेबाजी की निंदा की। ओवैसी ने कहा कि मैं इस नारेबाजी की निंदा करता हूं और इस तरह की नारेबाजी से हमारा कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा, ‘कोई आकर यहां पर दुश्मन मुल्क के बारे में नारे लगाएगा, हम उसकी निंदा करते हैं। हमारे लिए भारत जिंदाबाद है, भारत जिंदाबाद रहेगा। हमारा कोई मतलब ही नहीं है पाकिस्तान से। जो पाकिस्तान के नारे लगा रहे हैं, हमारा कोई मतलब ही नहीं है उनसे, हम उनकी निंदा करते हैं।’

इस घटना के बाद बीजेपी सांसद अनंत हेगड़े का बयान सामने आया। उन्होंने कहा कि सीएए के खिलाफ बेंगलुरु में आज के कार्यक्रम ने राज्य के सभी शिक्षित लोगों को शर्मसार किया है। उन्होंने कहा कि एक लड़की जो खुद को वामपंथी कार्यकर्ता बताती है, पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाती है, प्रतिभागी इस घटना के गवाह बनते हैं। हेगड़े ने कहा कि कर्नाटक की भूमि पर ऐसा नहीं होना चाहिए और राज्य के लोगों को उन्हें सबक सिखाना चाहिए। हेगड़े ने कहा कि कर्नाटक कभी भी देश विरोधी घटनाओं को स्वीकार नहीं करेगा।

Next Story
Share it