अन्य राज्य:

तमिल नाडु को हुआ COVID-19 की वजह से बड़ा नुकसान, मुख्य मंत्री ने जारी किया बयान

Janprahar Desk
23 May 2020 10:58 PM GMT
तमिल नाडु को हुआ COVID-19 की वजह से बड़ा नुकसान, मुख्य मंत्री ने जारी किया बयान
x
शनिवार को हुई एक बैठक में तमिल नाडु के मुख्य मंत्री K Palanisami ने बड़ा दावा पेश किया। उसमे उन्होंने ये बोला कि तमिल नाडु के राज्य को कुल ₹35000 करोड़ के राजस्व का घाटा हुआ।

शनिवार को हुई एक बैठक में तमिल नाडु के मुख्य मंत्री K Palanisami ने बड़ा दावा पेश किया। उसमे उन्होंने ये बोला कि तमिल नाडु के राज्य को कुल ₹35000 करोड़ के राजस्व का घाटा हुआ। ये राजस्व GST में आयी गिरावट की वजह से हुआ है जिसे COVID-19 के रोकथाम के लिए उठाये गए सभी कदमों की वजह से हुआ है। उनके बयान से ये साफ़ तौर से ज़ाहिर हो रहा था कि उन्हें राजस्व के घाटे की चिंता ज़रूर थी पर उन्हें इससे संतोष था कि ये घाटा कोरोना के रोकथाम में कारगर साबित हुआ। आपको बता दें कि मुख्य मंत्री ने ये भी स्पष्ट कर दिया कि चाहे जितना भी घाटा हुआ हो, इस घाटे का किसी भी कल्याणकारी  योजनाओं (developmental schemes) पर नहीं पड़ेगा। 

K Palanisami ने ये भी कहा कि, "बहुत सारे कठोर निर्णय लिए गए हैं जिनसे कोरोना वायरस की रोकथाम की जा सके। हालाँकि स्तिथि भले ही कितनी ही विकट हो जाये, किसी भी developmental scheme पर असर नहीं पड़ेगा। ऐसा इसलिए क्यूंकि इन developmental schemes से बहुत सारी नौकरियों के मौके बन रहे हैं। 

तमिल नाडु के वित्त मंत्रालय द्वारा जारी किये गए एक रिपोर्ट ने ये भी बताया कि मार्च के आखिरी सप्ताह के साथ अप्रैल और मई में घोषित lockdown की वजह से राज्य को GST के राजस्व घाटे के तौर पर ₹35000 करोड़ का घाटा तमिल नाडु सरकार को उठाना पड़ा। इसी रिपोर्ट को संज्ञान में लेते हुए ही मुख्य मंत्री ने बैठक में और भी कई फैसलों के बारे में बात की।

आपको बता दें की प्रधान मंत्री द्वारा देश व्यापी lockdown का आह्वाहन जब 25 मार्च को किया था, तो तमिल नाडु सरकार ने उसके एक दिन पहले ही राज्य में lockdown का प्रस्ताव बुलाया था। Palanisami ने ये भी कहा कि उन्हें भारत सरकार से आने वाले अगले दिशानिर्देशों की प्रतीक्षा है। आपको बता दें कि  भारत के lockdown के चौथे चरण की समाप्ति 31 मई को हो रही है। इसके बाद के दिशानिर्देशों और lockdown का पांचवा चरण होगा या नहीं ये देखना बाकी है।

Next Story