अन्य राज्य:

2 साल का बच्चा हनुमान मंदिर में घुसा, ऊंची जाति के ग्रामीणों ने दलित परिवार पर लगाया 23 हजार रुपये का जुर्माना

Ankit Singh
22 Sep 2021 5:57 AM GMT
2 साल का बच्चा हनुमान मंदिर में घुसा, ऊंची जाति के ग्रामीणों ने दलित परिवार पर लगाया 23 हजार रुपये का जुर्माना
x
कर्नाटक के कोप्पल जिले में एक 2 साल का दलित लड़का मंदिर में दर्शन के लिए चला गया तो ग्रामीणों ने बच्चे के मां-बाप पर 23 हजार का जुर्माना लगा दिया। प्रशासन ने भी इस मुद्दे पर संज्ञान लिया है।

आज भी ऐसी कुछ घटनाएं सुनने की मिल जाती है जो यह प्रतीत कराती है देश अभी तक जात-पात के बंधन से मुक्त नहीं हो पाया है। कर्नाटक के कोप्पल जिले से ऐसी ही एक शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। यहां के हनुमासागर के पास मियापुरा गांव में एक दलित लड़के के माता-पिता पर 23 हजार रुपए का जुर्माना लगा दिया। उस दलित परिवार का सिर्फ इतना कसूर था कि उनका 2 साल का बच्चा हनुमान मंदिर के अंदर भगवान का आशीर्वाद लेने चला गया था।

घटना 4 सितंबर की है, इस दिन उनके 2 साल के बेटे का जनदिन था। तो उसके पिता अपने बच्चे को गांव के हनुमान मंदिर ले गए। इस मंदिर में दलितों के आवाजाही पर मनाही है, तो पिता अपने बेटे के साथ मंदिर के बाहर खड़ा होकर दर्शन कर रहा था, लेकिन बच्चा उत्साह में भागकर मंदिर के अंदर चला गया और भगवान से प्रार्थना कर वापस आ गया।

इस घटना के बाद यह गांव में बड़ा मुद्दा बन गया। ऊंची जाति के लोगों के दलित लड़के के प्रवेश से मंदिर को अपवित्र मान लिया। इसके बाद ग्रामीणों ने 11 सितंबर को एक बैठक की जिसमें उन्होंने दलित लड़के के माता-पिता पर 23 हजार रुपए का जुर्माना भरने को कहा, यह रुपया मंदिर के शुद्धिकरण के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

जब इस घटना की जानकारी जिला प्रशासन को हुई तो पुलिस और समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों को गांव में भेजा गया। अधिकारियों ने भेदभाव के संबंध में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया है। फिलहाल में प्रशासन ने ग्रमीणों को चेतावनी देकर छोड़ दिया है। प्रशासन ने कहा है कि अगर ग्रामीण ऐसी गलती दोहराते है तो कानूनी कार्यवाई की जाएगी।

ये भी पढें-

महाराष्ट्र में बाढ़ पीड़ितों की मदद करने वाली पहली बॉलीवुड एक्ट्रेस...ऐसे कर रही है मदद

एक ही मंडप में व्यक्ति ने अपनी दोनों प्रेमिकाओं से शादी की!

घर में अकेले थी लड़की, दंबगों ने युवती को जिंदा दीवार में चुनाव दिया, जमीन विवाद का था मामला

Next Story
Share it