महाराष्ट्र

Largest Family: महाराष्ट्र का सबसे बड़ा परिवार, एक बार में २५ लीटर दूध और १५०० रुपये की सब्जियां, मटन तो........!

Sudarshan Kendre
8 Jan 2023 9:15 AM GMT
Maharashtras largest family, 25 litres of milk and vegetables worth Rs 1,500 at a time, mutton toh!
x

Maharashtra's largest family, 25 litres of milk and vegetables worth Rs 1,500 at a time, mutton toh!

बड़े परिवार आजकल बहुत कम देखने को मिलते हैं। ४-५ लोगों के परिवार में आजकल हम झगड़े और बहस देखते हैं। क्योंकि आजकल कोई भी हल्के में नहीं लेना चाहता। लेकिन हमारे महाराष्ट्र में खासकर गांवों में आज भी परिवार एक साथ नजर आते हैं। आज हम एक ऐसे ही परिवार के बारे में जानकारी देखने जा रहे हैं,जहां बड़े प्यार के साथ एक ही छत के नीचे १ या ४ नहीं बल्कि ७२ लोग रहते हैं।

भारत अपनी परंपराओं और संस्कृति के लिए पूरी दुनिया में जाना जाता है। ऐसी कई चीजें हैं,जो भारत की सुंदरता का वर्णन करती हैं और उनमें से एक भारत में संयुक्त परिवार प्रणाली है। दुनिया भर के कई देशों में संयुक्त परिवार का चलन देखा गया है, लेकिन भारत लंबे समय से इस परंपरा का पालन करता आ रहा है। ऐसा ही एक परिवार इस समय सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जहां एक ही छत के नीचे ७२ सदस्य रहते हैं। यह महाराष्ट्र के सोलापुर जिले में है।
महाराष्ट्र के सोलापुर जिले का यह परिवार चर्चा में आ गया है। इस संयुक्त परिवार में ७२ सदस्य एक ही छत के नीचे खुशी-खुशी रहते हैं। डोइजोड परिवार में एक दिन की ,सब्जियों की कीमत १,००० से १,२०० रुपये प्रति दिन है। तो एक बार में १० लीटर दूध का उपयोग हो जाता है। मूल रूप से कर्नाटक का रहने वाला डोइजोड परिवार करीब १०० साल पहले सोलापुर में आया था। इस कारोबारी परिवार की चार पीढ़ियां एक साथ एक घर में रहती हैं। परिवार की महिला सदस्यों का कहना है,कि शुरू में उन्हें परिवार के सदस्यों की संख्या को लेकर डर लगता था। लेकिन अब वे अच्छी तरह से अभ्यस्त हो गए हैं। घर की महिलाएं खाना बनाने के लिए छह से सात चूल्हे का इस्तेमाल करती हैं। सब मिलकर खाना बनाते हैं। परिवार की महिला सदस्यों का कहना है,कि शुरू में उन्हें परिवार के सदस्यों की संख्या को लेकर डर लगता था। लेकिन अब उन्हें इसकी आदत हो गई है और यह उनके जीवन का अहम हिस्सा बन गया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह विशाल परिवार जिस घर में रहता है, उसका बिजली बिल प्रति माह करीब ४०-५० हजार रुपये आता है। साथ ही वे एक गैस सिलेंडर केवल ३-४ दिन ही चलते हैं।
इन सदस्यों की कमाई के साधनों की बात करें तो डोइजोड परिवार कई तरह के व्यवसाय करता है। उनकी कपड़ों की कई दुकानें हैं। सबके काम बंटे हुए हैं। कुछ लोग दुकानों पर बैठ जाते हैं,तो कुछ लोग कपड़े लेकर दूसरी जगहों पर जाकर भी बेचते हैं। परिवार में कुछ लड़के स्कूल और कॉलेज जा रहे हैं, जबकि कुछ लड़कियां कई अन्य काम सीख रही हैं। परिवार व्यवसाय में अपनी सफलता का श्रेय अपनी संयुक्त परिवार प्रणाली को देता है। ऐसा संयुक्त परिवार आज बहुत कम देखने को मिलता है।
एक रिपोर्ट द्वारा बनाए गए एक वीडियो में परिवार के एक सदस्य अश्विन डोइजोडे कहते हैं- 'हमारा परिवार इतना बड़ा है,कि हमें सुबह और शाम को १० लीटर दूध की जरूरत होती है रोजाना करीब १२०० रुपये की सब्जियों की खपत होती है। मांसाहारी खाने में इससे तीन से चार गुना ज्यादा यानी ५-६ हजार रुपये खर्च होते हैं
Next Story