महाराष्ट : स्वास्थ्य अफसर और डॉक्टरों की रिटायरमेंट उम्र में हुआ बदलाव, अब इतने साल में होंगे रिटायर

 
Uddhav thakre

महाराष्ट्र की ठाकरे सरकार ने स्वास्थ्य अफसर और डॉक्टरों की रिटायर उम्र में बदलाव करते हुए दो साल का इजाफा कर दिया है। अब महाराष्ट्र के स्वास्थ्य अफसरों और सिविल सर्जन 60 के बजाए 62 साल में रिटायर होंगे। इस प्रस्ताव को राज्य सरकार ने बुधवार को ही मंजूरी दे दी है। 

सूबे में स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के वरिष्ठ अफसर और सिविल सर्जन को एक्सटेंशन देने के प्रस्ताव को राज्य के कैबिनेट ने पास कर दिया है। अब राज्य स्वास्थ्य विभाग में काम करने वाले सभी वरिष्ठ अधिकारी और सिविल सर्जन की उम्र 62 वर्ष हो गई है। 

इसकी पीछे की वजह कोरोना की तीसरी लहर बताई जा रही है। राज्य में डॉक्टर्स की वैसे भी कमी है। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि कोविड काल में हम स्वास्थ्य सेवाएं तो बढ़ा सकते सकते है लेकिन डॉक्टर्स कहां से लाएंगे। इसी के मद्देनजर राज्य सरकार ने डॉक्टर्स और मेडिकल अफसरों की रिटायर उम्र में 2 साल का एक्सटेंशन कर दिया है।

यह भी पढ़ें: Maharashtra Board SSC Result 2021: इतने बजे एसएससी बोर्ड 10वीं कक्षा का परिणाम होगा जारी, यहां देख सकते हैं अपना रिजल्ट

खबर ये भी है कि इंटर्न कर रहे जूनियर डॉक्टर्स का बांड भी बढ़ाया जा सकता है। ताकि वे लंबे अंतराल तक राज्य में डॉक्टर्स की कमी को पूरा कर सकें। 

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के 15 जिले इन दिनों कोरोना के हब बने हुए है, जहां से सबसे ज्यादा संक्रमित मामले आ रहे है। आशंका जाहिर की जा रही है कि तीसरी लहर की शुरुआत महाराष्ट्रा से ही हो सकती है। केंद्र सरकार ने इन महाराष्ट्र में कोरोना से होने वाले खतरों के लिए मेडिकल एक्सपर्ट्स की टीम भी भेजी है।

अन्य खबरें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|