महाराष्ट्र

कोरोना काल मैं  डॉक्टर, नर्स का होटल बिल करोड़ों के घर में, पुणे के होटल ने 86 लाख 72 हजार का बिल जमा किया!

Janprahar Desk
16 Jun 2020 6:07 AM GMT
कोरोना काल मैं  डॉक्टर, नर्स का होटल बिल करोड़ों के घर में, पुणे के होटल ने 86 लाख 72 हजार का बिल जमा किया!
x
पिछले तीन महीनों से सैकड़ों डॉक्टर और नर्स अपने जीवन या अपने परिवार की परवाह किए बिना दिन-रात कोरोना से जूझ रहे हैं। कई कोरोनरी धमनी की बीमारी का इलाज कर रहा है। इन सरकारी और निजी डॉक्टरों और नर्सों के प्रशासन ने उनके लिए अस्पताल के पास एक होटल में रहने की व्यवस्था की है।

पिछले तीन महीनों से सैकड़ों डॉक्टर और नर्स अपने जीवन या अपने परिवार की परवाह किए बिना दिन-रात कोरोना से जूझ रहे हैं। कई कोरोनरी धमनी की बीमारी का इलाज कर रहा है। इन सरकारी और निजी डॉक्टरों और नर्सों के प्रशासन ने उनके लिए अस्पताल के पास एक होटल में रहने की व्यवस्था की है। लेकिन संबंधित होटल मालिकों ने इसके लिए प्रशासन से प्रति व्यक्ति प्रति दिन 2,000 रुपये का शुल्क लिया है। तदनुसार, एक होटल ने पुणे कलेक्ट्रेट को 86 लाख 71 हजार रुपये का बिल जमा किया है। (Pune covid warriors hotel bill 86 Lakhs)

होटल को बार-बार बिल का भुगतान करने को कहा गया है। लेकिन जिला प्रशासन द्वारा आपदा विभाग में वर्तमान में जो धनराशि खर्च की गई है, वह अन्य जरूरी चीजों पर खर्च की गई है। इसलिए अब प्रशासन को इस सवाल का सामना करना पड़ रहा है कि करोड़ों रुपये के होटल बिल का भुगतान कैसे किया जाए। कोरोना के रोगियों का इलाज करने वाले कुछ डॉक्टरों और नर्सों के परिवार भी कोरोना से संक्रमित थे। इन निजी डॉक्टरों को होटल में रहना चाहिए, प्रशासन से मांग करनी चाहिए। तदनुसार, प्रशासन ने शुरू में केवल पांच सितारा होटल में इस प्रतिष्ठित चिकित्सक को समायोजित किया।

प्रशासन ने तब वरिष्ठ, रेजिडेंट डॉक्टरों को ससून अस्पतालों में काम करने के साथ-साथ कोरोनर की ऑन-ड्यूटी नर्स के रूप में होटल में ठहराया। वर्तमान में, शहर के कुछ होटलों में कुल 500 से 600 सरकारी और निजी डॉक्टर और नर्स समायोजित हैं। पुणे में होटल पवन, लेमन ट्री, अर्शीवाद होटल, पंचरत्न, होटल सागर का अधिग्रहण किया गया है। इसमें ससून अस्पताल सहित लगभग 80 निजी डॉक्टर शामिल हैं। एक होटल ने जिला प्रशासन को 86 लाख 71 हजार रुपये का बिल जमा किया। इसमें से 33 लाख 52 हजार रुपये के बिल का भुगतान सीएसआर फंड के जरिए किया गया था। लेकिन अभी भी 53 लाख 18 हजार रुपये बाकी है। इसके लिए संबंधित होटल मालिक बार-बार प्रशासन को परेशान कर रहे हैं। (Pune covid warriors hotel bill 86 Lakhs)

Next Story