महाराष्ट्र

Corona Virus के कारण मुंबई, पुणे, नागपुर समेत चार शहर लॉकडाउन, ये दुकानें रहेंगी खुली…

Janprahar Desk
20 March 2020 3:13 PM GMT
Corona Virus के कारण मुंबई, पुणे, नागपुर समेत चार शहर लॉकडाउन, ये दुकानें रहेंगी खुली…
x
देशभर में कोरोना वायरस (Corona Virus) के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. अब तक 210 केस सामने आए हैं, जिसमें सबसे अधिक मरीज महाराष्ट्र के हैं. मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने चार शहरों को लॉकडाउन करने का फैसला किया है. यानी जरूरी दुकानों और सेवाओं को छोड़कर सभी

देशभर में कोरोना वायरस (Corona Virus) के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. अब तक 210 केस सामने आए हैं, जिसमें सबसे अधिक मरीज महाराष्ट्र के हैं. मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने चार शहरों को लॉकडाउन करने का फैसला किया है. यानी जरूरी दुकानों और सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानें और दफ्तर 31 मार्च तक बंद रहेंगे.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) ने कहा कि हमने मुंबई, पुणे, पिंपरी, नागपुर और एमएमआर रिजन को 31 मार्च तक लॉकडाउन करने का फैसला किया है. यहां जरूरी सामानों और सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानें और दफ्तर बंद रहेंगे. महाराष्ट्र में अब तक कोरोना के 52 मामले सामने आए हैं, जिसमें एक की मौत हो गई है.

महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई, नागपुर, पुणे और पिंपरी को लॉकडाउन करने का फैसला किया है, लेकिन राशन – सब्जी की दुकानें और दवाई की दुकानें यानी मेडिकल शॉप खुले रहेंगे. इसके अलावा जरूरी सेवाएं भी जारी रहेंगी. हालांकि, सरकार ने कहा कि पैनिक बाईंग न करें. 31 मार्च तक गैर-जरूरी सामानों और शराब की दुकानें, माल समेत कई प्रतिष्ठान बंद रहेंगे.

महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा कि एक से आठवीं तक की परीक्षाएं रद्द कर दी गई है. 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं होंगी, लेकिन 9वीं और 11वीं की परीक्षा को 15 अप्रैल तक टाल दिया गया है.

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि पूरी दुनिया लोगों को घर में रहने की सलाह दे रही है. कुछ प्रमुख नागरिक और संगठन मदद के लिए आगे आ रहे हैं. बॉलीवुड कलाकार भी मदद के लिए आगे आए हैं. रोहित शेट्टी ने फोन किया और एक जागरूकता फिल्म बनाने की पेशकश की.

उद्धव ठाकरे ने कहा कि लोगों ने कल की गई अपील का जवाब दिया है. भीड़ कम हो गई है, फिर भी हमें अगले 15 दिनों के लिए अतिरिक्त सतर्क रहना होगा. हमारे पास एकमात्र हथियार भीड़ से बचना है, लेकिन फिर भी हम कुछ निर्णय ले रहे हैं, आप पसंद नहीं कर सकते हैं.

सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर बसें और स्थानीय बारिश बंद हो जाती हैं, तो आवश्यक सेवाएं प्रदान करने वाले लोग हमारे पास कैसे पहुंचेंगे? अभी के लिए हम बसों और ट्रेनों को बंद नहीं कर रहे हैं. सरकारी कार्यालयों को पूरी तरह से बंद नहीं किया जाएगा, लेकिन यहां 25 फीसदी उपस्थिति ही रहेगी.

Next Story