गाली-गलौच के आरोप में महाराष्ट्र विधानसभा से BJP के 12 विधायक एक साल के लिए सस्पेंड

 
Maharastra assembly

सोमवार को महाराष्ट्र विधानसभा में गलत व्यवहार के चलते भाजपा के 12 विधयकों को सस्पेंस कर दिया गया। जानकारी के अनुसार पीठासीन अधिकारी भास्कर जाधव से गलत व्यवहार करने पर बीजेपी के 12 विधायकों को महाराष्ट्र विधानसभा से एक साल के लिए सस्पेंड किया गया है। 

निलंबित विधायकों में अभिमन्यु पवार, अतुल भातखलकर, नारायण कुचे, आशिष शेलार, गिरिश महाजन, संजय कुटे, पराग अलवणी, राम सातपुते, हरीश पिंगले, जयकुमार रावल, योगेश सागर और कीर्ति कुमार भांगडिया शामिल है।

आरोप लगा है कि निलंबित किए गए विधयकों ने पीठासीन अधिकारी के साथ बदसलूकी और गाली-गलौच किया था। इस मामले पर महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का कहना है कि भजपा के किसी भी विधायक ने गाली नहीं दी, सब मनगढंत कहानियां बनाई जा रही है। बल्कि ये सभी विधायक ओबीसी आरक्षण के समर्थन में हंगामा कर रहे थे। 

यह भी पढें: छोटे दलों को रिझाने की जुगत में भाजपा, मोदी के नए मंत्रिमंडल विस्तार में यूपी से इन्हें मिल सकती है जगह

उन्होंने के आगे कहा कि न तो मैंने और ही किसी अन्य विधायक ने पीठासीन अधिकारी भास्कर जाधव को गाली दी। मैनें तो उनसे माफी भी मांगी थी, इसके बावजूद भी उन्होंने 12 विधयकों को एक साल के लिए निलबिंत कर दिया। देवेंद्र फडणवीस इस पूरे कार्रवाई की निंदा की है। 

आज ही शिव सेना के प्रवक्ता संजय राउत ने एक बयान में कहा कि शिवसेना और बीजेपी का रिश्ता आमिर खान और किरण राव के संबंध जैसा है। हम दुश्मन नहीं बल्कि दोस्त है। अब इस घटना के बाद से शिवसेना और बीजेपी के रिश्तों में खटास आ सकती है। 

अन्य खबरें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|