MP में स्वास्थ्य विभाग का कारनामा, 7 जिंदा कोरोना मरीजों को सरकारी रिकॉर्ड में घोषित कर दिया गया मृत

मध्यप्रदेश में 7 कोरोना मरीजों को सरकारी रिकॉर्ड में मृत घोषित कर दिया गया। जब उन सातों व्यक्तियों को अपने मृत होने की जानकारी हुई यो वो 7 व्यक्ति अपना आधार और वोटर आईडी कार्ड लेकर स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे और अपने जिंदा होने का प्रमाण दिया। 
 
Corona testing

मध्यप्रदेश में एक हैरान करने वाला मामले सामने आया है, जहां 7 कोरोना मरीजों को सरकारी रिकॉर्ड में मृत घोषित कर दिया गया। जब उन सातों व्यक्तियों को अपने मृत होने की जानकारी हुई यो वो 7 व्यक्ति अपना आधार और वोटर आईडी कार्ड लेकर स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे और अपने जिंदा होने का प्रमाण दिया। 

दरअसल बुधवार को सोशल मीडिया पर स्वास्थ्य विभाग की एक सूची वायरल हो गई। इस सूची में पॉजिटिव लोगों को मृत घोषित किया गया था। जबकि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सेमरिया ने 7 लोगों को होम  आइसोलेट किया गया था। इस सूची के वायरल होने के बाद सीएमएचओ ने कहा कि किसी को मृत घोषित नहीं किया गया है। उन्होंने इस वायरल पोस्ट को सिरे से खारिज कर दिया। 

2 जून को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सेमरिया जिला सीधी के नाम से एक सूची वायरल हुई थी जिसमें 18 मरीजों का पूरा डाटा लिखा गया था, उसमे से 7 मरीजों को मृत घोषित किया गया था। वहीं, जब जिंदा लोगों को इस मामले की भनक हुई तो वह सब चकित हो गए। 

हालांकि सूत्रों का यह भी दावा है कि यह पुरानी लिस्ट है, जो अब वायरल हुई है, इसका मृत दर्शाए गए लोगों से कुछ लेना देना नहीं है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|