अन्य राज्य:

केरल सरकार का बड़ा ऐलान, अब मछली व्यापारी सड़क किनारे मछली नहीं बेच पाएंगे

Janprahar Desk
21 Aug 2020 4:14 PM GMT
केरल सरकार का बड़ा ऐलान, अब मछली व्यापारी सड़क किनारे मछली नहीं बेच पाएंगे
x
केरल में कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने लोगों के स्वास्थ्य को प्राथमिकता देते हुए एक बड़ा फैसला लिया है। और राज्य में सड़क किनारे मछली बेचने पर पूर्णतया प्रतिबंध लगा दिया है। मछली का व्यापार अर्थात मछली की लेनदेन संबंधी कार्य सड़क किनारे होते हैं और सड़क किनारे मछली की लेनदेन में मूल्य काफी कम होता है, इसलिए ज्यादा लोग यहीं से मछली खरीदना पसंद करते हैं।

केरल में कोरोना संक्रमण को देखते हुए सरकार ने लोगों के स्वास्थ्य को प्राथमिकता देते हुए एक बड़ा फैसला लिया है। और राज्य में सड़क किनारे मछली बेचने पर पूर्णतया प्रतिबंध लगा दिया है। मछली का व्यापार अर्थात मछली की लेनदेन संबंधी कार्य सड़क किनारे होते हैं और सड़क किनारे मछली की लेनदेन में मूल्य काफी कम होता है, इसलिए ज्यादा लोग यहीं से मछली खरीदना पसंद करते हैं।

यहां ज्यादा लोग आ जाने से सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ जाती है और लोगों में संक्रमण का खतरा बढ़ता ही चला जाता है ।यह पाबंदी राज्य सरकार ने दूसरी बार लगाई है ।
केरल का मुख्य त्यौहार ओणम नजदीक है । केरल वासी इस त्यौहार के लिए बहुत पहले से ही उत्सुकता दिखा रहे थे । सड़क किनारे मछली बेचने पर पाबंदी लगाते हुए सीएम पिनराई विजयन ने जनता से ओणम त्योहार घर में रहकर मनाने की अपील की है ।ओणम का त्योहार 22 अगस्त से शुरू होकर 2 सितंबर तक चलेगा।

देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है। केरल ही पहला ऐसा राज्य है जहां पर सबसे पहले संक्रमण दर्ज किया था हालांकि कर्नाटक में सबसे पहले इस वायरस से पहली मौत हुई थी। समूचे देश में इस वक्त संक्रमितों का आंकड़ा 28 लाख 36 हजार के पार पहुंच गया  है वहीं मौत का आंकड़ा 20 लाख 96 हजार के पार पहुंच गया है। 

कोट्टायम के एक मछली विक्रेता शशि कुमार ने न्यूज एजेंसी एएनआइ से बात करते हुए कहा, "हमारे पास अब पैसा नहीं है। हमारे लिए अपना घर चलाना मुश्किल हो रहा है। कोट्टायम के 19 वर्षीय मछली विक्रेता शशि कुमार ने कहा," हमारे घर को चलाने के लिए कोट्टायम के लोग कोविड -19 की वजह से बहुत सारी मछलियां नहीं खरीद रहे हैं। 

Next Story