झारखण्ड

इस भारतीय राज्य ने केवल धूम्रपान ना करने वालों के लिए नौकरियों को अनिवार्य किया!

Janprahar Desk
4 Dec 2020 2:22 PM GMT
इस भारतीय राज्य ने केवल धूम्रपान ना करने वालों के लिए नौकरियों को अनिवार्य किया!
x
इस घोषणा के तहत सभी कर्मचारियों को हलफनामा दाखिल करना होगा।


झारखंड में हेमंत सोरेन की अगुवाई वाली सरकार ने अपने कर्मचारियों को यह कहते हुए हलफनामा दाखिल करना अनिवार्य कर दिया है कि वे अपने कार्यालयों को तंबाकू मुक्त क्षेत्र घोषित करने के सरकारी प्रयास के तहत किसी भी रूप में तंबाकू का सेवन नहीं करेंगे।

इसके अतिरिक्त, राज्य सरकार के कर्मचारियों को एक हलफनामा देना होगा कि वे तंबाकू का सेवन नहीं करेंगे।

इसके अलावा, झारखंड सरकार ने सरकारी नौकरी चाहने वालों के लिए यह घोषणा करना अनिवार्य कर दिया कि वे किसी भी रूप में तंबाकू का सेवन नहीं करेंगे। एक प्रावधान किया गया है, जिसमें कहा गया है कि, यह प्रावधान 1 अप्रैल, 2021 से लागू होगा।

इस आशय का एक बयान राज्य के स्वास्थ्य, शिक्षा और परिवार कल्याण विभाग द्वारा जारी किया गया था।

तम्बाकू उत्पादों में कोई भी "सिगरेट, बीड़ी, खैनी, गुटखा, पान मसाला, जर्दा या सुपारी के साथ-साथ हुक्का, ई-हुक्का, ई-सिगरेट और किसी भी नाम से उपयोग किए जाने वाले तंबाकू उत्पाद शामिल होंगे - अधिकारियों के अनुसार"।

अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि राज्य तंबाकू नियंत्रण समन्वय समिति की हालिया बैठक में मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने अधिकारियों को सचिवालय, पुलिस मुख्यालय, जिलों के सभी कार्यालयों और ब्लॉकों को तंबाकू मुक्त क्षेत्र घोषित करने का निर्देश दिया।

उन पर लिखे 'तंबाकू मुक्त क्षेत्र' वाले बोर्डों को सभी सरकारी कार्यालयों में और निजी क्षेत्र की कंपनियों के मुख्य द्वार पर, मुख्य सचिव सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए।

Next Story
Share it