झारखण्ड

बजट में छोटी कंपनियों को बड़ी राहत दी गई :आईसीएआई

Janprahar Desk
3 Feb 2021 5:15 PM GMT
बजट में छोटी कंपनियों को बड़ी राहत दी गई :आईसीएआई
x
बजट में छोटी कंपनियों को बड़ी राहत दी गई :आईसीएआई

जमशेदपुर, 03 फरवरी । इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया के जमशेदपुर शाखा के पदाधिकारियों ने बजट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह एक साहसिक निर्णय लेने वाला बजट है। सोमवार को बिष्टुपुर स्थित आईसीएआई कार्यालय में शाखा अध्यक्ष सीए संजय गोयल ने बताया कि बजट में कृषि तथा स्वस्थ पर काफी बड़ा रकम आवंटन किया गया है।

उन्होंने बताया कि छोटी कंपनियों को बड़ी राहत दी गई है। अब दो करोड़ कि पूंजी तथा 20 करोड़ तक कि कारोबार वाली कंपनियों को भी छोटी कंपनी कहा जाएगा। शाखा सचिव सीए सुगम ने बताया कि अब 75 के ऊपर के लोगो को अब इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भरना पड़ेगा अगर उनका आय सिर्फ पेंशन और ब्याज से ही है।

उन्होंने यह भी बताया कि "अब से व्यापार में भविष्य निधि में कर्मचारी का योगदान का छूट तभी मिलेगा अगर वह तय समय में जमा किया गया है। टैक्स ऑडिट की सीमा को 5 करोड़ से बढ़ा के 10 करोड़ तक कर दिया गया है और पुनः बैंक मे डिपोजिट कि बीमा से सुरक्षा 1 लाख से बढ़ा के 5 लाख कर दी गई है। एमएसएमई के राहत के लिए भी ठोस कदम उठाया गया है। आयरन एवम स्टील तथा सोना चांदी में कस्टम ड्यूटी के घटने से, सस्ते हुए है। जीएसटी मे भी अब ग्रोस टैक्स लाइबिलिटी के बदले अब नेट टैक्स लाइबिलिटी मे ब्याज लगने को नियम बनाया गया है ।यह बहुत ही सराहनीय कदम है कि इस साल के बजट में सरकार का मुख्य जोर पूंजीगत खर्चो के द्वारा जीडीपी ग्रोथ एवम अप्रत्यक्ष करो में सीमा शुल्क और वस्तु एवम सेवा कर सुधार में टेक्नोलॉजी के प्रयोग द्वारा मिनिमम गवर्नमेंट मैक्सिमम गवर्नेस का पालन करना है, इससे करदाताओं के लिए काफी सुविधा मिलेगी।"

प्रेस वार्ता में सीए विकास अग्रवाल, सीए सिद्धार्थ खंडेलवाल, सीए पंकज शंगरी, सीए योगेश शर्मा, सीए बिनोद सरायवाला आदि उपस्थित थे।

अन्य खबरे

Next Story
Share it