दिल्ली

दिल्ली में कोरोना को नियंत्रित करने के लिए CM Arvind Kejriwal का 5T प्लान।

Janprahar Desk
7 April 2020 1:57 PM GMT
दिल्ली में कोरोना को नियंत्रित करने के लिए CM Arvind Kejriwal का 5T प्लान।
x
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने दिल्ली में कोरोना वायरस को मुक्त कराने के लिए 5 सूत्रीय कार्यक्रम की घोषणा की है और उस कार्यक्रम को ‘5T Plan’ नाम दिया है। अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि इस योजना में सबसे पहला काम टेस्टिंग है और इसके लिए दिल्ली सरकार काम कर

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने दिल्ली में कोरोना वायरस को मुक्त कराने के लिए 5 सूत्रीय कार्यक्रम की घोषणा की है और उस कार्यक्रम को ‘5T Plan’ नाम दिया है। अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि इस योजना में सबसे पहला काम टेस्टिंग है और इसके लिए दिल्ली सरकार काम कर रही है और आने वाले दिनों में रैपिड टेस्टिंग को शुरू किया जाएगा। इस कार्यक्रम के तहत केजरीवाल ने जिस ‘5T Plan’ की बात कही है उसमें टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, टीमवर्क और ट्रैकिंग करने की बात कही गई है।

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि पहला टी है टेस्टिंग। जिन देशों ने टेस्टिंग नहीं की वहां कोरोना बुरी तरह फैल गया। साउथ कोरिया ने बड़े स्‍तर पर टेस्टिंग कर एक-एक आदमी को पहचाना और उसका इलाज किया। इससे दूसरे लोगों को संक्रमित होने से बचाया गया। हम भी इसी तरह बड़े स्‍तर पर टेस्टिंग शुरू करने जा रहे हैं। 50 हजार टेस्टिंग के लिए ऑर्डर किया है और ऑर्डर आने चालू हो गए हैं। एक लाख लोगों के रेपिड टेस्‍ट के लिए हमारे पास किट की आपूर्ति शुक्रवार से चालू हो जाएगी। हॉटस्‍पॉट में रेपिड टेस्‍ट का इस्‍तेमाल किया जाएगा।

दूसरा टी है ट्रेसिंग। संक्रमित लोगों ने किस-किस से मुलाकात की, वह कहां-कहां गया इसका पता लगाने के लिए मोबाइल लोकेशन की मदद ली जाएगी। हर एक को ट्रेस किया जाएगा। संक्रमित से मिलने वाले लोगों को सेल्‍फ क्‍वारंटीन करने और उनकी निगरानी के लिए पुलिस की मदद ली जाएगी। निजामुद्दीन मकरज के 2 हजार लोगों के नंबर पुलिस को देने वाले हैं, जिससे उनके लोकेशन का पता लगाया जाएगा और उस एरिया को सील कर दिया जाएगा।

तीसरा टी है ट्रीटमेंट। जो लोग बीमार हैं उनका बेहतर इलाज सुनिश्चित कराना है। 525 कुल पॉजिटिव मामले हैं। हमारे पास लगभग 3000 बेड की क्षमता तैयार है। एलएनजीपी में केवल कोरोना मरीजों का इलाज होगा। 2450 बेड सरकारी और 450 बेड निजी अस्‍पतालों में हैं। जब दिल्‍ली में मरीजों की संख्‍या बढ़कर 30 हजार होगी तब चरणबद्ध तरीके से होटलों व धर्मशालाओं को अधिकृत किया जाएगा। सभी मेडिकल सुविधाएं मौजूद होंगी।

चौथा टी है टीमवर्क। सभी लोग कोरोना वायरस से मिलकर लड़ेंगे। अगर कोई ये सोच रहा है कि वह अकेले ही कोरोना वायरस से लड़ लेगा और बच जाएगा तो यह गलत सोच है। केजरीवाल ने कहा कि हम केंद्र सरकार, अन्‍य राज्‍य सरकार और विशेषज्ञों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। सभी विपक्षी दलों और सांसदों के साथ भी बैठक करने जा रहे हैं और उनकी सलाह ले रहे हैं।

पांचवा टी है ट्रैकिंग और मॉनिटरिंग। केजरीवाल ने कहा‍ कि इतने सारे काम हो रहे हैं, इतने प्रयास किए जा रहे हैं तो इनकी ट्रैंकिंग और मॉनिटरिंग भी बहुत जरूरी है। मैं खुद इन सभी कामों की 24 घंटे मॉनिटरिंग कर रहा हूं।

Next Story