केंद्र ने डोरस्टेप राशन योजना पर लगाई रोक, केजरीवाल ने पूछा- पिज्जा-बर्गर की तरह राशन की डिलीवरी क्यों नहीं?

केंद्र सरकार द्वारा केजरीवाल की 'घर घर राशन' योजना को रोकने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की और सीधा प्रधानमंयरी मोदी से सवाल पूछा कि आखिर इस योजना पर दो दिन पहले रोक क्यों लगा दी गई?
 
Kejriwal

केंद्र सरकार द्वारा केजरीवाल की 'घर घर राशन' योजना को रोकने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की और सीधा प्रधानमंयरी मोदी से सवाल पूछा कि आखिर इस योजना पर दो दिन पहले रोक क्यों लगा दी गई? केजरीवाल ने कहा कि अगर आप चाहे तो मैं इस योजना का क्रेडिट आपको दे दूंगा, लेकिन इस योजना को रुकवाइये मत।


इस योजना का नाम पहले 'मुख्यमंत्री घर घर योजना' रखा गया था। लेकिन केंद्र सरकार के हस्तक्षेप के बाद मुख्यमंत्री के नाम को आगे से हटाया गया। अब इस योजना का नाम 'घर घर योजना' रखा गया है। केजरीवाल ने सरकार पर आरोप लगाने हुए कहा कि हमने केंद्र सरकार से इस योजना के लिए 5 बार अप्रूवल लिया था, लेकिन अब योजना शूरी होने से दो पहले केंद्र का कहना है कि अपने केंद्र से स्वीकृती नहीं ली अभी तक। 

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा, प्रधानमंत्री जी आज मैं बहुत व्यथित हूं। आज मुझसे कोई भूल हो जाए तो माफ कर देना। प्रधानमंत्री सर, इस स्कीम के लिए राज्य सरकार सक्षम है और हम केंद्र से कोई विवाद नीहं चाहते। प्लीज इस योजना को न रोके चाहे तो आप इसका क्रेडिट ले सकते है। केजरीवाल ने मोदी सरकार से सीधा पूछा कि जब पिज़ा और बर्गर की होम डिलीवरी हो सकती है तो राशन की होम डिलीवरी करने में क्या दिक्कत है?

केजरीवाल ने साफ किया कि आज इस योजना का क्रेडिट नहीं लेना चाहते। उन्होंने आगे कहा ये राशन न तो भाजपा का है और न ही दिल्ली सरकार का है, यह तो आम जनता का राशन है और यह राशन उन्हें मिलना चाहिए। संकट के घड़ी में सभी को एक साथ मिलकर चलने की जरूरत है। 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|