दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश, नौकरी से निकाले गए एयर इंडिया पायलटों की सेवाएं दोबारा की जाए बहाल

पिछले साल अगस्त में कोरोना संक्रमण का हवाला देते हुए ए यर इंडिया ने कई पायलटों की सेवाएं समाप्त कर दी थी। लेकिन अब उनकी सेवाएं फिर से बहाल की जाएगी। साथ ही साथ उन्हें बकाया वेतन का भी भुगतान किया जाएगा। 
 
Air India

पिछले साल अगस्त में कोरोना संक्रमण का हवाला देते हुए एयर इंडिया ने कई पायलटों की सेवाएं समाप्त कर दी थी। लेकिन अब उनकी सेवाएं फिर से बहाल की जाएगी। साथ ही साथ उन्हें बकाया वेतन का भी भुगतान किया जाएगा। 

दरअसल दिल्ली हाई कोर्ट ने पायलटों द्वारा दायर की गई 40 से ज्यादा याचिकाओं पर फैसला सुनाते हुए यह आदेश दिया है। बता दें कि एयर इंडिया ने पिछली साल 13 अगस्त को 48 पायलटों को नौकरी से निकाल दिया था.

इन याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए जस्टिस ज्योति सिंह ने आदेश दिया कि सभी पायलटों को सेवाएं फिर से बहाल की जाए। हाई कोर्ट ने यह भी कहा कि कॉन्ट्रैक्ट पर रखे गए पायलटों का भविष्य में अनुबंध बढ़ाने का फैसला उनके परफॉर्मेंस के आधार पर एयर इंडिया करेगी. कोर्ट ने कहा कि इस पर विस्तृत फैसला बुधवार को जारी किया जाएगा.

एयर इंडिया ने पायलटों के टर्मिनेशन को लेकर कहा था कि कोरोना संकट की वजह से एयरलाइन के ऑपरेशन पर भारी असर पड़ा है. जिसके कारण पहले से घाटे में चल रही कंपनी को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है. इस वजह से उन्हें पायलटों को नौकरी से निकलना पड़ रहा है। 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|