कोरोना के चलते बदला टोक्यो ओलंपिक का रिवाज, खिलाड़ी खुद ही आपने गले में पहनेंगे मेडल

 
Medal
टोक्यो ओलंपिक का आयोजन 23 जुलाई से होने वाला है। इसकी तैयारियां भी पूरी हो चुकी है। कोरोना वायरस के चलते इस बार का ओलंपिक थोड़ा अलग अंदाज में देखने को मिलेगा। दरअसल इस बार पदक विजेता खिलाड़ी खुद से ही अपने गले में मेडल डालेंगे। कोरोना के चलते अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) ने यह फैसला लिया है। 
IOC अध्यक्ष थॉमस बाक ने अंतरराष्ट्रीय मीडिया को कॉन्फ्रेंस कॉल के माध्यम से बताया कि इस बार पदकों को गले मे नहीं डाला जाएगा। बल्कि पदक विजेता खिलाड़ियों को ट्रे में पदक पेश किया जाएगा, उन्हें खुद ही मेडल को अपने गले मे डालना होगा। 
साथ ही बाक ने यह भी बताया कि जो भी व्यक्ति ट्रे में मेडल रखेगा वह दस्ताने पहनकर ही इन्हें ट्रे में रखेगा। यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि कोरोना वायरस का प्रसार न हो, हमे पूरी सावधानी बरतनी है। 
IOC अध्यक्ष थॉमस बाक ने एक बार फिर से दोहराया है कि समारोह के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा जाएगा। कोई भी खिलाड़ी एक दूसरे से गले नहीं मिलेगा और न ही हाथ मिलाएगा। साथ ही सभी खिलाड़ी और अधिकारियों को समारोह के दौरान मास्क पहनना होगा। 
टोक्यो में 23 जुलाई से होने जा रहे ओलंपिक खेलों से पहले ही कोरोना का ग्रहण लग गया है। कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए वहां के प्रधानमंत्री ने टोक्यो में इमरजेंसी लगाने का फैसला लिया है। फिलहाल में कोई जवाब नहीं है कि ओलंपिक खेलों में दर्शकों को प्रवेश की अनुमति दी जायेगी या नहीं। 
जापान के प्रधानमंत्री सुगा ने कहा कि मैं कह चुका हूं कि ओलंपिक दर्शकों के बिना भी हो सकते हैं। हम लोगों की सुरक्षा को सर्वोपरि रखकर फैसला लेंगे। तो इसका मतलब साफ है कि ओलंपिक खेल बिना दर्शकों के ही खेले जाएंगे। 

अन्य खबरें 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|