2007 में हुए T20 वर्ल्ड कप को लेकर युवराज सिंह ने किया बड़ा खुलासा, धोनी को लेकर कही ये बड़ी बात

युवराज सिंह ने 2007 टी 20 वर्ल्ड कप को लेकर बड़ा खुलासा किया है। युवराज सिंह ने कहा कि 2007 टी 20 वर्ल्डकप के लिए राष्ट्रीय टीम का कप्तान बनाना चाहता थे लेकिन सेलेक्टर्स ने धोनी को कप्तान नियुक्त कर दिया।
 
Yuvi

भारतीय टीम में पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज युवराज सिंह को भला कौन नहीं जानता होगा। अपने लंबे छक्कों के लिए विख्यात इस बल्लेबाज ने टी 20 और 50 ओवरों के विश्वकप को जिताने में अहम भूमिका निभाई है। लेकिन अब युवराज सिंह ने 2007 टी 20 वर्ल्ड कप को लेकर बड़ा खुलासा किया है। 

युवराज सिंह ने कहा कि 2007 टी 20 वर्ल्ड कप के लिए राष्ट्रीय टीम का कप्तान बनाना चाहता थे लेकिन सेलेक्टर्स ने धोनी को कप्तान नियुक्त कर दिया। उस वक्त धोनी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में केवल तीन साल हुए थे, ऐसे में सभी की नजरें धोनी पर टिकी हुई थी। लेकिन धोनी की कप्तानी की बदौलत भारत टी 20 वर्ल्ड कप जीतने में कामयाद रहा। धोनी के कप्तानी की सभी ने सराहना भी की। 

युवराज सिंह ने आगे बताया कि 2007 में वनडे वर्ल्ड कप की रेस से बाहर हो गई थी। उसके बाद भारत का इंग्लैंड दौरे था फिर उसके 4 महीने बाद टी 20 विश्वकप खेलना था, इस दौरान कई सीनियर खिलाड़ी आराम करने की सोच रहे थे। तो मुझे पूरी उम्मीद थी कि टी20 वर्ल्ड कप में भारत की कप्तानी करूंगा लेकिन सेलेक्टर्स ने धोनी को चुना।

युवराज ने आगे कहा, जाहिर सी बात है, जो कोई भी कप्तान बनता है, आपको उसका समर्थन करना होता है। अंत में आप एक टीम मैन बनना चाहते हैं और मैं ऐसा ही था।

बता दें कि टी 20 वर्ल्डकप युवराज के लिए बहुत अच्छा रहा। युवराज के शानदार प्रदर्शन के बदौलत उन्हें प्लेयर ऑफ द सीरीज चुना गया था। युवराज ने इस वर्ल्डकप में स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में छह छक्के जड़े थे जो कि वर्ल्ड रिकॉर्ड है। 

अन्य खबरें 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|