क्रिकेट

जिंदगी में उतार-चढ़ाव आते हैं, परंतु खेल के प्रति मेरा प्रेम मुझे स्थिर बनाए रखता है: राहुल द्रविड़

Janprahar Desk
9 Dec 2020 1:29 PM GMT
जिंदगी में उतार-चढ़ाव आते हैं, परंतु खेल के प्रति मेरा प्रेम मुझे स्थिर बनाए रखता है: राहुल द्रविड़
x
पूर्व भारतीय क्रिकेटर, राहुल द्रविड़ ने कहा कि, जिंदगी कभी एक समान नहीं रहती है। मेरी जिंदगी में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं, परंतु खेल के प्रति मेरा प्रेम मुझे स्थिरता प्रदान करता है। 

मुंबई महाराष्ट्र 8 दिसंबर

पूर्व भारतीय क्रिकेटर, राहुल द्रविड़ ने कहा कि, जिंदगी कभी एक समान नहीं रहती है। मेरी जिंदगी में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं, परंतु खेल के प्रति मेरा प्रेम मुझे स्थिरता प्रदान करता है।

आपको बता दें कि राहुल द्रविड़ सत्य विज्ञान फाउंडेशन द्वारा आयोजित ट्रुथ टॉक नामक कार्यक्रम में भारत के प्रमुख पत्रकारों में से एक अयाज़ मेमन की सवाल का जवाब दे रहे थे।

उन्होंने कहा कि, किसी भी खिलाड़ी के जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं और जिस तरह के खेल में वह योगदान दे रहे हैं इसमें उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। परंतु एक खेल के प्रति उनका प्यार उन्हें स्थिरता और निरंतरता प्रदान करता है।

वे कहते हैं कि जब आप एक खेल में सम्मिलित होते हैं और राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिनिधित्व करते हैं तो आप का संपूर्ण जीवन सार्वजनिक होता है तब आप पर यह चुनौती होती है कि आप अपने जीवन में एक सामंजस्य बनाए रखें और सार्वजनिक दबाव के बावजूद अपना उत्कृष्ट प्रदान करते रहे।

मैं आपको बता दूं कि, राहुल द्रविड़ वर्तमान में राष्ट्रीय क्रिकेट एकेडमी के अध्यक्ष के तौर पर कार्य कर रहे हैं। इसके अलावा, वह भारतीय टीम(A) के कोच की भूमिका भी निभा रहे हैं और इस प्रकार वह भारत के लिए नए प्रतिभावान और बुद्धिमत्ता युक्त खिलाड़ियों की नर्सरी तैयार कर रहे हैं।






Next Story