क्रिकेट

MS धोनी ने अपने फैंस को दिया एक बड़ा झटका: लिया अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का फैसला

Janprahar Desk
16 Aug 2020 4:06 PM GMT
MS धोनी ने अपने फैंस को दिया एक बड़ा झटका: लिया अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का फैसला
x
आईपीएल शुरू होने से पहले ही MS धोनी ने अपने फैंस को बहुत बड़ा झटका दे दिया। हालांकि महेंद्र सिंह धोनी आईपीएल में नजर आ सकते हैं ,लेकिन अब नीली टीशर्ट पहनकर भारतीय क्रिकेट टीम में खेलते हुए अब वे कभी नजर नहीं आ सकेंगे।

स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे दमदार खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का बड़ा ऐलान किया। भारतीय क्रिकेट के फैंस आईपीएल को लेकर काफी जोरो-शोरो से इंतजार कर रहे थे। और आईपीएल शुरू होने से पहले ही MS धोनी ने अपने फैंस को बहुत बड़ा झटका दे दिया। हालांकि महेंद्र सिंह धोनी आईपीएल में नजर आ सकते हैं ,लेकिन अब नीली टीशर्ट पहनकर भारतीय क्रिकेट टीम में खेलते हुए अब वे कभी नजर नहीं आ सकेंगे।

एमएस धौनी भारत के ही नहीं, बल्कि दुनिया के सबसे सफल कप्तानों में गिने जाते हैं, क्योंकि वे एकमात्र ऐसे कप्तान हैं, जिन्होंने आइसीसी की सारी ट्रॉफियां जीती हैं। टी20 वर्ल्ड कप हो या वनडे वर्ल्ड कप या फिर आइसीसी चैंपियंस ट्रॉफी धौनी ने सारे खिताब देश को दिलाए हैं। धौनी ने 2007 में बतौर कप्तान टी20 वर्ल्ड कप जीता था, जबकि 2011 में वनडे विश्व कप विजेता धौनी थे। इसके अलावा 2013 की आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी भी धौनी ने देश को जिताई थी।

उनके संन्यास लेने का तरीका भी बहुत अद्भुत था। उन्होंने इंस्टाग्राम पर एक विडियो के साथ बहुत ही आसान भाषा में स्वरचित गजल शेयर की।
गजल थी -"मैं पल दो पल का शायर हूं"!

भारतीय क्रिकेट टीम के अन्य खिलाड़ियों ने भी महेंद्र सिंह धोनी के इस निर्णय का सम्मान किया। और ट्विटर के जरिए कुछ शब्द लिखें ।
क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने भी ट्वीट कर धोनी के प्रति सम्मान जाहिर किया। उन्होंने लिखा कि" हर क्रिकेटर का सफर किसी दिन खत्म होता है, लेकिन जिसे आप इतने करीब से जानते हो ,जब वह ऐसी घोषणा करता है तो ज्यादा इमोशनल महसूस होता है। दुनिया ने आपके अचीवमेंट देखे ।मैंने आपका व्यक्तित्व देखा ।हर चीज के लिए शुक्रिया कप्तान!"


महेंद्र सिंह धोनी ने संन्यास तो ले लिया लेकिन सन्यास लेते वक्त कोई इंटरव्यू नहीं दिया और सन्यास लेने की वजह अभी सामने नहीं आई है। लेकिन यह संन्यास का फैसला लेकर उन्होंने साफ साफ संदेश दे दिया कि वह युवाओं के लिए रास्ता नहीं रोकेंगे। अगर धोनी संन्यास का ऐलान नहीं करते तो ऋषभ पंत, संजू सैमसन और ईशान किशन जैसे खिलाड़ियों पर आईपीएल में दबाव होता।

धौनी ने वर्ष 2014 के आखिरी में ऑस्ट्रेलिया में बीच टेस्ट सीरीज से क्रिकेट के सबसे बड़े प्रारूप से संन्यास ले लिया था। 2017 में अचानक ही उन्होंने वनडे व टी-20 की कप्तानी का त्याग किया। उस समय उन्होंने कहा था कि नए कप्तान को आने वाले वर्ल्ड कप के लिए टीम बनाने का मौका मिलेगा, लेकिन वे अपना सहयोग देते रहेंगे। धौनी ने अब 15 अगस्त 2020 को इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया। 

Next Story