क्रिकेट

कोरोना की चपेट मे पूर्व क्रिकेटर

Janprahar Desk
17 Aug 2020 4:32 PM GMT
कोरोना की चपेट मे पूर्व क्रिकेटर
x
कोरोना की चपेट मे पूर्व क्रिकेटर

कोरोना का कहर हर  जगह  बढ़ता   जा रहा है,उत्तर प्रदेश भी इस प्रकोप से प्रभावित  राज्यों  मे से एक है। चेतन चौहान जो पूर्व क्रिकेटर  होने के साथ-साथ योगी  आदित्य नाथ की सरकार मे मंत्री भी थे। रविवार को कोरोना के चलते उनका निधन  हो गया । कोरोना से संक्रमित  होने के बाद उन्हे गुरुग्राम के मेदान्ता अस्पताल  मे भर्ती  करवाया  गया  था,रविवार को ईलाज  के दौरान ही अस्पताल  मे उनकी  किडनी  फेल  हो गई ,जिसके कारण  उनकी मौत हो गई । अपने सहयोगी मंत्री के निधन  पर योगी  आदित्यनाथ ने शोक जताया है। भारतीय  क्रिकेट  टीम  का हिस्सा  रह  चुके चेतन चौहान को अर्जुन अवार्ड  से भी नवाज़ा जा चुका है।

क्रिकेट  पारी  के साथ-साथ  उन्हे राजनीति  पारी  भी खूब  रास  आई जिसमे वो 1991 से 1998 तक सांसद  रह  चुके  थे। भारतीय जनता पार्टी मे शामिल  होने के उपरांत पार्टी  ने उन्हे कई पद  भी दिए, साथ ही उनको डीडीसीए के प्रेसीडेंट,वाइस प्रेसीडेंट और  चीफ़  सेलेक्टर के पद पर नियुक्त  किया  गया था। जैसे  सैनिक  कल्याण,होमगार्ड प्रांतीय रक्षक  दल और नागरिक सुरक्षा मंत्री के पद  शामिल  है । 73 साल की उम्र  मे उनका  निधन  हुआ  है। मौजूदा समय मे वह उत्तर प्रदेश  के अमरोहा के नोन्गावा सहादत  सीट  से विधायक थे ,और अमरोहा  से वो सांसद  भी रह चुके है ।

भारतीय  क्रिकेट  के  लिए  उन्होने कूल 40 टेस्ट मैच  खेले,ओपनिंग  पोज़ीशन    पर सुनील गावस्कर  एक लम्बे समय  तक   उनके पार्टनर  बने रहे ।  टेस्ट  टीम  के इस पूर्व सलामी बल्लेबाज  ने रविवार  शाम  को सवा चार बजे  जिन्दगी से जंग  हार  गए  ।आज सोमवार  दोपहर के दो बजे के समय हापुड़ मे  राजकीय  सम्मान  के साथ अन्तिम संस्कार होगा  । चेतन चौहान  का जन्म बरेली  मे 21 जुलाई 1947 को हुआ  था,मुख्यत  वो बुलंदशहर  जिले  के अगौता  गाँव  के रहने वाले थे । उनका ननिहाल मुरादाबाद  जिले के मूढ़ापान्डे मे था । उनके पिता एन एस चौहान  रिटायर मेजर  थे । आज उनके सम्मान  मे  लखनऊ  का और उनके होमटाउन हापुड़ जिले  मे नेशनल  फ़्लैग आधा झुका रहेगा । प्रधानमंत्री  मोदी और योगी आदित्यनाथ  के अलावा गृहमंत्री अमित शाह,उत्तर प्रदेश की राज्यपाल  आनन्दीबेन  पटेल ,और कई  लोगो ने उनके  मौत  पर  शोक प्रकट  किया ।

 जुलाई महीने के पहले सप्ताह  मे उनमे कोरोना  के लक्षण  मिले थे,बाद मे वो ठीक भी  हो गए  थे  ,लेकिन अचानक  तबियत बिगड़ने के कारण उन्हे गुरुग्राम  के मेदान्ता मे भर्ती करवाया  गया  लेकिन वहां किडनी  फेल   होने की वजह  से उनकी  मौत समय  हो  गई  । उनका पुरा नाम चेतेन्द्र प्रताप  सिंह  चौहान  था। चेतन चौहान  की दो पत्नी है   एक ऑस्ट्रेलिया  से थी जो अब इस दुनिया मे नही  है उनसे उनका एक बेटा  है ,  और दुसरी  पत्नी संगीता सिंह  यहां  लखनऊ  के सेंट्रल  बैंक  मे थी,जहां से अब वो रिटायर   हो चुकी है  चेतन चौहान  अपने  आप मे बहुमुखी  प्रतिभा  के व्यक्ति  थे  ,एक किसान,बिजनेसमैन ,प्रशासक और सोशल  वर्क मे  अपने काम से अनोखी  छाप  छोड़ी तभी  तो हर क्षेत्र  मे अपनी पहचान  बनाई  । उन्होने रणजी   मैच मे कई  राज्यों  का प्रतिनिधित्व  किया मुख्यत  महाराष्ट्र,दिल्ली 

  

Next Story