क्रिकेट

साल 2010 IPL फाइनल में सचिन को आउट करने के लिए धोनी ने बनाई थी रणनीति, अब जकाती ने किया खुलासा।

Janprahar Desk
27 May 2020 2:58 PM GMT
साल 2010 IPL फाइनल में सचिन को आउट करने के लिए धोनी ने बनाई थी रणनीति, अब जकाती ने किया खुलासा।
x
देश में जानलेवा कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है। इसी महामारी को लेकर अब राज्य में सियसी घमासान छिड़ गया है। बीजेपी उद्धव सरकार पर आरोप लगा रही है कि वह कोरोना से लड़ने में नाकाम रही, इसलिए राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए।

देश में जानलेवा कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है। इसी महामारी को लेकर अब राज्य में सियसी घमासान छिड़ गया है। बीजेपी उद्धव सरकार पर आरोप लगा रही है कि वह कोरोना से लड़ने में नाकाम रही, इसलिए राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए। अब उद्धव ठाकरे ने गठबंधन के नेताओं की बैठक बुलाई है। इस बीच खबर आई है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से फोन पर बात की है।

बताया जा रहा है कि उद्धव और राहुल के बीच फोन पर ये बातचीत कल हुई है। राहुल गांधी ने उद्धव ठाकरे को किया और आश्वस्त किया कि कोरोना के इस संकट काल में कांग्रेस उद्धव ठाकरे के साथ खड़ी है।

कल राहुल के बयान से उठने लगे थे कई सवाल

दरअसल कल राहुल गांधी ने महाराष्ट्र की राजनीति को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा था, पंजाब,राजस्थान, छत्तीसगढ़ और पड्डुचेरी में कांग्रेस की सरकार है, जहां हम अपने हिसाब से फ़ैसला कर सकते हैं, लेकिन महाराष्ट्र में गठबंधन की सरकार है जहां कांग्रेस सबसे छोटा दल है। उन्होंने कहा, ‘’शिवसेना और एनसीपी दो बड़े दल हैं। जैसे हम कांग्रेस शासित राज्यों में फ़ैसला ले सकते है वैसे हम महाराष्ट्र में फ़ैसला नहीं कर सकते।’’

राहुल गांधी के इस बयान के बाद राजनीतिक गलियारों में कांग्रेस की भागीदारी को लेकर कई सवाल खड़े हो गए थे। कई राजनीतिक जानकार मानते हैं कि राहुल गांधी के बयान के दो मायने हैं। पहला, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे कांग्रेस की बात नहीं सुनते और दूसरा राहुल गांधी यह बात तब ही बोल सकते थे, जब कांग्रेस शिवसेना और एनसीपी की सरकार को बाहर से समर्थन करती लेकिन ऐसा नहीं है।

उद्धव सरकार पर कोई खतरा नहीं- गठबंधन

हालांकि गठबंधन की ओर से बार-बार कहा जा रहा है उद्धव सरकार को किसी तरह का कोई ख़तरा नहीं है। बीजेपी लगातार राज्य में राष्ट्रपति शासन की मांग करके ठाकरे सरकार को मुश्किल में लाने के लिए दबाव बना रही है।

Next Story