धर्म

वास्तव में किसके पुत्र थे अभिमन्यु ?

Janprahar Desk
5 July 2020 8:37 PM GMT
वास्तव में किसके पुत्र थे अभिमन्यु ?
x

आज मैं आपको अपने इस आर्टिकल में बताउंगी की आखिर ऐसी क्या वजह थी कि भगवान श्रीकृष्ण ने अभिमन्यु को महाभारत युद्ध में नहीं बचाया।

महाभारत की कथा तो आप सभी ने सुनी और देखी होगी और यह भी जानते होंगे कि महाभारत का युद्ध कैसे हुआ और किनके बीच हुआ लेकिन बहुत ही कम लोग जानते होंगे कि महाभारत के युद्ध में भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन के पुत्र अभिमन्यु को क्यों नहीं बचाया था।

दरअसल आज हम आपको इसके बारे में बताने जा रहे हैं कि धर्म की रक्षा करने वाले भगवान श्री कृष्ण ने युद्ध में अभिमन्यु को क्यों नहीं बचाया था क्योंकि अभिमन्यु बहुत ही कम उम्र के थे जब उन्होंने इस युद्ध में भाग लिया था और वह इस युद्ध में वीरगति को प्राप्त हुए थे तो आइए जानते हैं उस वजह को जिसके कारण भगवान श्री कृष्ण ने अभिमन्यु को नहीं बचाया था।

 ऐसा माना जाता है कि जब तक पृथ्वी लोक पर दुराचार बढ़ जाता है तो भगवान किसी न किसी रूप में जन्म लेते हैं और ऐसा भी कहा जाता है कि भगवान का साथ देने के लिए सभी देवताओं को भी स्वयं या फिर अपने पुत्र के रूप में पृथ्वी लोक में जन्म लेना पड़ता है। बता दें कि द्वापर युग में दुष्टों का विनाश करने के लिए भगवान विष्णु ने श्री कृष्ण के रूप में जन्म लिया था और फिर ब्रह्मा जी ने सभी देवताओं को भी श्रीकृष्ण की सहायता के लिए पृथ्वी लोक में जन्म के लिए आदेश दिया।

ब्रह्मा जी के इस आदेश को पाते ही सभी देवता राजी हो गए लेकिन चंद्रमा ने अपने पुत्र वर्चा को पृथ्वी लोक पर अवतार लेने के बात  को इनकार कर दिया और ब्रह्मा जी से कह दिया कि उनका पुत्र वर्चा पृथ्वी  लोक पर अवतार नहीं लेगा।

लेकिन सभी देवताओ के दबाब और समझाने पर की  धर्म की रक्षा के लिए उन्हें यह कदम उठाना ही पड़ेगा और यह सिर्फ उनका कर्तव्य ही नहीं दायित्व भी है देवताओं के दबाव के कारण चन्द्रमा विवश हुए और उन्होंने सभी देवताओं के सामने एक शर्त रख दी।

चद्रमा ने ये शर्त रखी की उनका पुत्र ज्यादा समय तक पृथ्वी लोक पर नहीं रहेगा इसके साथ ही उनका  पुत्र भगवान श्री कृष्ण के मित्र के पुत्र अर्जुन के पुत्र अभिमन्यु के रूप में जन्म लेगा और वह भगवान श्री कृष्ण और अर्जुन की अनुपस्थिति में अकेला ही अपना पराक्रम दिखाकर वीरगति को प्राप्त करेगा जिससे तीनो लोको में उसके पराक्रम की चर्चा होगी। चंद्रमा के इस शर्त के आगे सभी देवता विवश हुए और फिर चंद्रमा के पुत्र वर्चा ने महारथी अभिमन्यु के रूप में जन्म लिया एवं महाभारत के चक्रव्यूह में अपना पराक्रम दिखाते हुए अलप आयु में वीरगति को प्राप्त हुए यही कारण था की श्री कृष्ण ने अभिमन्यु की महाभारत के युद्ध में जान नहीं बचाई थी।

Next Story