धर्म

Vastu Tips: अगर चाहिए खुशहाल जिंदगी तो तुरंत घर से बाहर कर दें ये 5 चीजें, होती है धन की हानि

Janprahar Desk
12 Aug 2021 5:26 PM GMT
Vastu Tips: अगर चाहिए खुशहाल जिंदगी तो तुरंत घर से बाहर कर दें ये 5 चीजें, होती है धन की हानि
x
Vastu Tips: अगर चाहिए खुशहाल जिंदगी तो तुरंत घर से बाहर कर दें ये 5 चीजें, होती है धन की हानि

वास्तु शास्त्र के हिसाब से घर में रखी प्रत्येक वस्तु का शुभ या अशुभ प्रभाव इंसान के जीवन पर पड़ता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में रखे वस्तुओं में से पॉजिटिव एनर्जी या निगेटिव एनर्जी का प्रवाह होता है। तो आज बात करेंगे ऐसे वस्तुओं के बारे में जिनके वजह से आपके घर में निगेटिव एनर्जी का प्रवाह होता है। ये नेगेटिव एनर्जी हमारी तरक्‍की और घर की खुशहाली में बाधा बनती हैं। तो जानिए कौन सी है वे 5 चीजें...

  • पुराने अखबारों का ढेर हटा दें

घर में कभी भी पुराने अखबारों का ढेर नहीं रखना चाहिए। वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में पड़ा रद्दी का ढेर सदा नकारात्मक ऊर्जा लेकर आता है। इस वजह से लोगों को आर्थिक हानि का सामना करना पड़ता है और घर के सदस्यों की तरक्की रुक जाती है।

  • बंद घड़ी न रखें

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में में कभी भी बंद घड़ी नहीं रखनी चाहिए। कहा जाता है कि बंद घंडी बंद किस्मत का प्रतीक होती है और इससे व्यक्ति के जीवन में रुकावट आने लगती है। शास्त्र में कहा गया है कि बंद घड़ी बंद किस्मत के समान है। तो अगर आपके घर में भी बंद घड़ी तो उसकी बैटरी बदल दें या नया खरीद लें।

  • घर से बाहर कर दें फटे पुराने कपड़े

अच्छे कपड़े को अच्छे भाग्य का प्रतीक माना जाता है। वहीं पुराने मैले-कुचले कपड़े को बदकिस्मती का प्रतीक। वास्तु शास्त्र के अनुसार कपड़ों का संबंध भाग्य के साथ होता है। फटे पुराने कपड़े जीवन में दुर्भाग्य लेकर आते हैं। अगर ऐसे कपड़ें घर में हो तो तुरंत बाहर कर दें।

यह भी पढ़ें: भगवान राम ने अपने प्रिय भाई लक्ष्मण को क्यों दी थी मृत्युदंड की सजा?

  • पुराने तालें बदल दें

वास्तु शास्त्र में पुराने ताले को अशुभ माना जाता है, वहीं, नए ताले को अच्छी किस्मत का प्रतीक माना जाता है। अगर आपके घर में पुराने खराब हो चुके ताले रखे हैं तो उन्हें फौरन घर से बाहर कर दें। घर में खराब हो चुके या पुराने ताले को नहीं रखना चाहिए। वास्तु शास्त्र में कहा गया है कि पुराना ताला बुरी किस्मत लेकर आता है।

  • खंडित मूर्तियों का विसर्जन करें

देवी देवताओं की मूर्ति या चित्र से सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है लेकिन मूर्ति टूट जाये या खंडित हो जाएं तो उल्टी क्रिया होने लगती है, मतलब कि नकारात्मक ऊर्जा का वास होने लगता है। इसलिए खंडित मूर्तियों को जल में प्रवाह कर दें या जमीन में दबा दें।

नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं। Janprahar इनकी पुष्टि नहीं करता है।

अन्य खबरें

Next Story