धर्म

श्रावण कृष्ण पक्ष एकादशी (विक्रम संवत् 2077 ): जानिए आज कैसे टुटेगा एक अशुभ योग

Janprahar Desk
16 July 2020 12:20 PM GMT
श्रावण कृष्ण पक्ष एकादशी (विक्रम संवत् 2077 ): जानिए आज कैसे टुटेगा एक अशुभ योग
x
राहु ने 7 मार्च 2019 को मिथुन राशि में प्रवेश किया था और उस राशि में 22 सितंबर तक रहने वाला है । लेकिन वही सूर्यदेव ने 14 जून को मिथुन राशि में प्रवेश किया था ।
वही उसी राशि में सूर्य की राहु के साथ युति बन गई थी । और खुशी की बात यह है कि 16 जुलाई को यह अशुभ युति टूटने वाली है ।

आज गुरुवार का दिन है और ज्योतिषियों के अनुसार बताया जा रहा है कि आज एक अशुभ योग टुटने की संभावना है। और इतना ही नहीं इसी के साथ अशुभ व शुभ योग का एक नया कंबीनेशन भी बनेगा ।
क्योंकि देवों के देव, सूर्यदेव इस दिन मिथुन राशि से बाहर आ रहे हैं और राहु के साथ उनकी युति टूट रही है।

ज्योतिष विद्या के अनुसार ,सूर्य और राहु के कॉन्बिनेशन को बिल्कुल भी शुभ नहीं माना जाता है। क्योंकि राहु सूर्य को ग्रहण लगा देता है ।ऐसा ज्योतिषाचार्य पंडित राम अवतार मिश्र जी का कहना है।
बता दें राहु ने 7 मार्च 2019 को मिथुन राशि में प्रवेश किया था और उस राशि में 22 सितंबर तक रहने वाला है । लेकिन वही सूर्यदेव ने 14 जून को मिथुन राशि में प्रवेश किया था ।
वही उसी राशि में सूर्य की राहु के साथ युति बन गई थी । और खुशी की बात यह है कि 16 जुलाई को यह अशुभ युति टूटने वाली है ।

सूर्यदेव अपने परम मित्र चंद्रमा की तर्क राशि में प्रवेश करने वाले हैं और जब चंद्रमा कर्क राशि में प्रवेश करेंगे तो वह एक नया सहयोग बनाएंगे। उसी के साथ समसप्तक नामक एक अन्य योग भी बनने जा रहा है।

वहीं दूसरी और सूर्य की दिशा के बारे में बताया जाए तो आज ही वह दिन है जब सूर्य देव दक्षिणायन होंगे ।आज से सूर्य के कर्क राशि में प्रवेश करते ही 6 महीने के उत्तरायण काल का अंत हो जाएगा और कर्क संक्रांति के दिन से ही दक्षिणायन की शुरुआत होगी। यह स्थिति आगे आने वाले 6 महीने तक ही चलती रहेगी और मकर सक्रांति को खत्म होगी।

Next Story