Ram Navami 2021: रामनवमी का क्या है महत्व? जाने तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और अन्य बातें

चैत्र नवरात्रि के अंत में आखिरकार राम नवमी का त्योहार आ ही गया है। ऐसे में क्या है राम नवमी का महत्व? इस बारे में कई सारे सवाल लोगों के मन में रहते हैं। राम नवमी के बारे में सारी जानकारी जानने के लिए आगे पढ़ें। Ram Navami 2021। Ram Navami 2021 date। राम नवमी कब है? 
 
Ram Navami 2021: रामनवमी का क्या है महत्व? जाने तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और अन्य बातें

हिंदू धर्म के सबसे बड़े त्योहारों के रूप में चैत्र नवरात्रि का महीना लगभग खत्म ही हो गया है और इसके अंत में मनाया जाता है राम नवमी का त्यौहार (Ram Navami 2021)। राम नवमी चैत्र नवरात्रि के नौवें दिन पर पड़ता है और यह चैत्र महीने के शुक्ल पक्ष में मनाया जाता है (Ram Navami kab hai?) रामनवमी के बारे में अधिक जानने के लिए आगे पढ़ें। क्या है राम नवमी का महत्व? क्यों मनाया जाता है राम नवमी? कैसे मनाए राम नवमी का त्यौहार? Ram Navami 2021 के बारे अधिक जानने के लिए आगे पढ़ें।

रामनवमी का महत्व। Importance of Ram Navami in Hindi

भगवान श्री राम के जन्मदिन को राम नवमी के रूप में मनाया जाता है। हिंदू पुराणों के मुताबिक भगवान श्री राम भगवान विष्णु के सातवें अवतार है और उनका जन्म अयोध्या में हुआ था। राम का जन्म बुराई पर सच्चाई की जीत और अधर्म पर धर्म की जीत के रूप में प्रति किया जाता है। राम नवमी के पहले भक्त चैत्र नवरात्रि के 9 दिनों तक व्रत रखते हैं और पूरी श्रद्धा से मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा करते हैं। साथ ही लोग इन 9 दिनों में दान धर्म का काम भी करते हैं।
ram navami 2021 in hindi

राम नवमी 2021 तिथि। Ram Navami 2021 Date

इस साल राम नवमी का त्योहार 21 अप्रैल, बुधवार को मनाया जाएगा।

राम नवमी 2021 शुभ मुहूर्त। Ram Navami 2021 Muhurat

रामनवमी का शुभ मुहूर्त 21 अप्रैल 12:43 AM पर शुरू होगा और अगले दिन 22 अप्रैल 12:35 AM पर खत्म होगा। 

कैसे मनाए रामनवमी का त्यौहार? How to celebrate Ram Navami in Hindi?

राम नवमी के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करना चाहिए और स्वच्छ कपड़े पहनना चाहिए। पूजा करने वाले स्थान को अच्छे से साफ करके पूजा का आरंभ करना चाहिए। इसके साथ भगवान राम का के नाम से पूजा आरंभ करें और पूजा की सारी जरूरी सामग्रियों के साथ पूजा करें। इसके बाद आखिर में रामचरितमानस, रामायण और रामरक्षास्त्रोत का पाठ करना भी शुभ माना जाता है।

राम नवमी के पावन अवसर पर पूरी श्रद्धा से भगवान राम की पूजा करें और आपके जीवन से सारे दुख तकलीफों का निवारण हो जाएगा।

राम नवमी की शुभकामनाएं।
अन्य खबरें:

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|