धर्म

सावन का पहला सोमवार: काशी में उमड़ी बाबा के भक्तों की भीड़, किए गए सभी इंतजाम

Janprahar Desk
26 July 2021 11:59 AM GMT
सावन का पहला सोमवार: काशी में उमड़ी बाबा के भक्तों की भीड़, किए गए सभी इंतजाम
x
सावन का पहला सोमवार: काशी में उमड़ी बाबा के भक्तों की भीड़, किए गए सभी इंतजाम

देवाधिदेव महादेव की नगरी काशी में सावन के पहले सोमवार पर भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी कांवड़ दूर से आने वाले भक्त पर रोक के बाद भी बाबा विश्वनाथ की एक झलक पाने के लिए कतारबद्ध होकर अपनी बारी का इंतजार करते दिखे. आज सुबह मंगला आरती के साथ ही बाबा विश्वनाथ के कपाट भक्तों के लिए खोल दिए गए.

काशी में यादव बंधुओं ने काशी विश्वनाथ मंदिर में जलाभिषेक की मान्यता है. 1932 में काशी में भीषण अकाल पड़ा था. जीव-जंतु सभी परेशान दिखाई दिए और बारिश की कोई संभावना नहीं थी. तब ऋषिमुनियों के कहने पर यादव समाज के लोगों ने बाबा विश्वनाथ को जल अर्पित किया था. जिसके बाद काशी में बारिश हुई और अकाल से मुक्ति मिली थी.

तभी से यह परंपरा अनावरत रूप से चली आ रही है और यादव बंधु इस परंपरा का निर्वहन आज भी करते आ रहे हैं. ऐसी मान्यता है कि सावन के सोमवार में यदि बाबा भोलेनाथ का दर्शन पूजन और रुद्राभिषेक कर दिया जाए, तो कल्याण होता है.

बता दें कि काशी के मंदिर में कोरोना प्रोटोकाल का पालन होता नहीं दिखा दिया. वहीं श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में भक्तों के लिए विशेष व्यवस्था रखी गई है. मंदिर परिसर में रेड कार्पेट बिछाया गया है. ताकि भक्त इसपर से होकर बाबा विश्वनाथ के दर्शन करने पहुंचे. साथ ही गर्मी और उमस को देखते हुए मंदिर परिसर में स्टील की बैरिकेडिंग की व्यव्सथा भी पहली बार की गई है.

Next Story