धर्म

Astrology: कांच की ग्लास में भूलकर भी न पीएं पानी, सेहत के साथ संपत्ति पर भी पड़ता है असर

Janprahar Desk
29 July 2021 2:27 PM GMT
Astrology: कांच की ग्लास में भूलकर भी न पीएं पानी, सेहत के साथ संपत्ति पर भी पड़ता है असर
x
Astrology: कांच की ग्लास में भूलकर भी न पीएं पानी, सेहत के साथ संपत्ति पर भी पड़ता है असर

ज्योतिष शास्त्र में ऐसी कई चीजों का वर्णन किया गया है, जिसे आप जीवन आचरण में सही ढंग से अपनाकर ऐश्वर्य की प्रप्ति कर सकते है। ज्योतिष शास्त्र में पानी पीने के तारीखों के बारे में भी बताया गया है। व्यक्ति किस धातु के बने पात्र में पानी पीता है, इसका असर उसकी आर्थिक स्थिती और सेहत पर पड़ता है।

शास्त्रों में भी कहा गया है कि हमारे शरीर का बड़ा हिस्सा पानी का ही होता है। लिहाजा अच्छी सेहत के लिए पानी पीने का तरीका मायने रखता है। तो आज हम जानेंगे कि किस पात्र में पानी पीने से क्या असर आपके जीवन में होता है।

चांदी का गिलास - चांदी के बर्तन में खाने और पानी पीने से सुख समृद्धि में इजाफा होता है। चांदी को सबसे शुद्ध धातु माना जाता है। चांदी के ग्लास में पानी पीने से झुखाम-सर्दी नहीं होता है और स्वास्थ बढ़िया रहता है। शास्त्रों के अनुसार चांदी के बर्तन में पानी पीने से आर्थिक तंगी से राहत मिलती है।

तांबे का गिलास - तांबे के पात्र में पानी पीना बहुत ही फायदेमंद होता है। तांबे के ग्लास में रखा हुआ पानी पीने से पेट संबंधी समस्‍याएं दूर होती है और ब्‍लड प्रेशर कंट्रोल रहता है। इससे शरीर के दूषित पदार्थ बाहर निकल जाते है।

यह भी पढ़े: सिरहाने के आस-पास भूलकर भी ये 9 चीजें न रखें, नहीं मिलेगा चैन, छिन जाएगा सुख

पीतल का गिलास - शास्त्रों में लिखा है कि जिनका गुरु कमजोर होता है उन्हें पीतल के ग्लास में पानी पीना चाहिए। पीतल में पत्र में पानी पीने से इम्‍युनिटी सिस्टम मजबूत होता है।

स्‍टील का गिलास - स्टील में ग्लास में पानी पीने से न तो ज्यादा नुकसान होता है और न ही फायदा। स्टील को लोहा माना जाता है, जो शनि से सबंधित है। लेकिन स्टील के ग्लास में गर्म पानी पिया जाए तो नुकसान होता है।

प्लास्टिक और कांच का गिलास - प्लास्टिक के ग्लास में ज्यादा ठंडा और गर्म पानी पीने से नुकसान बहुत होता है। वहीं, कांच के ग्लास में भी ज्यादा गर्म पानी नहीं पीना चाहिए। कांच के ग्लास में साधा पानी पीने से न कोई फायदा नहीं होता है।

अन्य खबरें

Next Story