मोदी के तर्ज पर होगा योगी के नए मंत्रिमंडल का विस्तार! इन नए चेहरों को मिल सकती है जगह

आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर यूपी में भी मंत्रिमंडल विस्तार होने वाला है। जानकारों के अनुसार योगी मंत्रिमंडल का विस्तार भी मोदी के नए कैबिनेट के तर्ज पर किया जाएगा।
 
मोदी के तर्ज पर होगा योगी के नए मंत्रिमंडल का विस्तार!

आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर यूपी में भी मंत्रिमंडल विस्तार होने वाला है। जानकारों के अनुसार योगी मंत्रिमंडल का विस्तार भी मोदी के नए कैबिनेट के तर्ज पर किया जाएगा। रविवार को बीजेपी और संघ के साथ हुई बैठक में मंत्रिमंडल विस्तार को हरी झंडी मिल गई है। अब बस यूपी में मुख्यमंत्री योगी के हरी झंडी दिखाते ही मंत्रिमंडल विस्तार हो जाएगा। उम्मीद की जा रही है कि इसी महीने के अंत तक विस्तार हो जाएगा। 

सूत्रों के अनुसार योगी के नए कैबिनेट में 5 से 7 नए मंत्रियों को जगह दी जा सकती है। इसमें सबसे पहला नाम निषाद पार्टी के संजय निषाद का आता है। वहीं, दूसरा नाम जितिन प्रसाद का है, उन्हें योगी सरकार ब्राह्मण चेहरे के तौर पर तरजीह दे सकती है। कायस्थ समुदाय को साधने के लिए ओपी श्रीवास्तव का नाम सबसे आगे चल रहा है। 

देखा जाए तो नए मंत्रिमंडल में प्रत्येक वर्ग के वोटरों का वोट खींचने के लिए उन समुदायों के नेताओं को जगह दी जा सकती है। यह ठीक मोदी के नए कैबिनेट जैसा ही होगा। जिसमें जातीय, क्षेत्रीय समीकरण के साथ युवाओं को अधिक मौका दिया जा सकता है।

ज्ञात हो कि यूपी में मायावती और अखिलेश यादव पहले ही ब्राह्मण वोटरों को रिझाने में जुट चुके है। बसपा सुप्रिमो तो 'ब्राह्मण जोड़ो अभियान' की शुरुआत करने वाली है। तो ऐसे में माना जा रहा है कि कैबिनेट में दो ब्राह्मण चहरे को जगह दी जा सकती है। इसके अलावा किसी महिला नेता की भी एंट्री हो सकती है।

यह भी पढ़ें: आखिरकार सिद्धू को मिल ही गई पंजाब प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी, लेकिन आसान नहीं डगर पनघट की

कहा जा रहा है कि मोदी मॉडल के अनुसार ही योगी का नया कैबिनेट होगा तो पूरी संभावना है कि कमजोर प्रादर्शन करने वाले और उम्रदराज मंत्रियों को बाहर बैठाया जा सकता है। योगी कैबिनेट में ऐसे कई मंत्री है जिनकी उम्र 70 वर्ष से अधिक है, उनके ऊपर गाज गिर सकती है।

मौजूदा समय में यूपी कैबिनेट में कुल 53 मंत्री है। जिसमें से सीएम योगी के अलावा 22 कैबिनेट मंत्री है, 21 राज्यमंत्री और 9 राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) है। कैबिनेट से सदस्यों की अधिकतम सीमा 60 हो सकती है। इसलिए अटकलों के बाजार से खबर आई है कि 7 नए चेहरों को मंत्रिमंडल में जगह दी जा सकती है।

अन्य खबरें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|