क्या है राहुल गांधी के ट्विटर 2.0 की रणनीति? 50 से अधिक लोगों को किया अनफॉलो

राहुल गांधी ने मंगलवार को अपने ट्विटर हैंडल से कई नेता, पत्रकार और करीबियों को अनफॉलो कर दिया। जिसके बाद से अटकलों का बाजार गर्म हो गया। 
 
Rahul gandi

मौजूदा सरकार पर तीखा हमला करना हो या यह अपने बयानों से मोदी सरकार को जमीनी हकीकत से रूबरू कराना हो, इस मामले में कांग्रेस के मौजूदा सांसद राहुल गांधी इन दिनों चर्चा में है। इस बीच वह फिर से एक बार चर्चा का विषय बन चुके है। दरअसल राहुल गांधी ने मंगलवार को अपने ट्विटर हैंडल से कई नेता, पत्रकार और करीबियों को अनफॉलो कर दिया। जिसके बाद से अटकलों का बाजार गर्म हो गया। 

ये राजनीति की कोई नहीं बिसात है या कोई नया प्रोपोगेंडा अभी कुछ भी कह पाना स्पष्ट नहीं है, लेकिन राहुल गांधी के इस कदम से राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गई है। 

राहुल गांधी ने जिन लोगों को अनफॉलो किया है उसमें वायनाड के सांसद ऑफिस में काम करने वाले और दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकारों के नाम भी शामिल है.

अटकलों का बाजार गर्म हुआ तो कांग्रेस के सूत्रों के हवाले से यह खबर आई है कि राहुल गांधी के ट्विटर अकाउंट को रिफ्रेश किया जा रहा है। कांग्रेस की आईटी टीम फिर से नई लिस्ट जारी करेगी, जिसमें कई कद्दावर नेताओं के नाम शामिल होंगे, जिन्हें फॉलो किया जाएगा। 

गौरतलब है कि कोरोना काल के बाद से राहुल गांधी ट्विटर पर बहुत ही सक्रिय हो गए है। ट्विटर के जरिए ही राहुल ने वर्तमान सरकार को आड़े हाथ किया है। वहीं, कोरोना महामारी के बाद से सपोर्टर उनके साथ जुड़े हुए है। ऐसे में ट्विटर को रिफ्रेश करना राहुल के नए राजनीतिक पड़ाव की शुरुआत भी हो सकती है। साथ ही यह पीएम मोदी के खिलाफ राजनीति का नया बिगुल भी हो सकता है।

वहीं, कई लोग इसे राहुल गांधी के ट्विटर 2.0 की रणनीति भी बता रहे हैं।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|