राजनीती

शरद पवार ने सभा को किया संबोधित, कहा-'पहले कानून रद्द करे, उसके बाद किसान चर्चा के लिए तैयार है'

Janprahar Desk
25 Jan 2021 5:53 PM GMT
शरद पवार ने सभा को किया संबोधित, कहा-पहले कानून रद्द करे, उसके बाद किसान चर्चा के लिए तैयार है
x
मुंबई के आज़ाद मैदान में महाराष्ट्र (Maharashtra) के 21 जिलों के 6,000 किसान मुंबई पहुंचे है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) सोमवार को सभा को संबोधित किया। 

मुंबई के आज़ाद मैदान में महाराष्ट्र (Maharashtra) के 21 जिलों के 6,000 किसान मुंबई पहुंचे है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) सोमवार को सभा को संबोधित किया। दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में मुंबई में किसान रैली को संबोधित करते NCP प्रमुख शरद पवार ने कहा,"ठंड के मौसम में पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के किसान पिछले 60 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। क्या प्रधानमंत्री ने उनके बारे में पूछताछ की है? क्या ये किसान पाकिस्तान के हैं?"

शरद पवार ने कहा, ''2003 में क़ानून पर चर्चा शुरू हुई थी। जब हमारी सरकार आई तो मैं कृषि मंत्री था मैंने खुद सभी राज्यों के कृषि मंत्रियो की बैठक की। उसके बाद BJP की सरकार आई उन्होंने इस क़ानून पर चर्चा नहीं किया और क़ानून पास कर दिए।''


शरद पवार ने आजाद मैदान में सभा को संबोधित करते हुए राज्यपाल पर तंज कसा है। उन्होंने कहा, ''महाराष्ट्र के इतिहास में ऐसा राज्यपाल नहीं मिले है। किसान आज मुंबई में हैं लेकिन राज्यपाल गोवा में चले गए। राज्यपाल को कंगना रनौत से मिलने का वक़्त है लेकिन किसानों से मिलने का वक़्त नहीं है।''

आपको बता दें महाराष्ट्र में किसानों ने दिल्ली में हो रहे आंदोलन का समर्थन करते हुए पिछले तीन दिनों से आजाद मैदान में इकठ्ठा हुए है। हजारों किसान केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों का विरोध करने के लिए इस रैली में हिस्सा लेने आए हैं।

सभी किसान अखिल भारतीय किसान सभा (AIKS) के बैनर तले आजाद मैदान में इकठ्ठा हुए हैं। एक प्रदर्शनकारी ने कहा कि "हम आज यानी 25 जनवरी को राज्यपाल को मेमोरेंडम देने वाले है। हमारे परिवार भी हमारे साथ आए हैं क्योंकि अगर हम खेती खो देते है तो पूरा परिवार सड़क पर आ जाए।"

अन्य खबरें:

Next Story