राजनीती

आखिरकार बेटे शुभ्रांशु के साथ TMC में शामिल हो गए मुकुल रॉय, कहा- घर में आकर अच्छा लग रहा है

Janprahar Desk
11 Jun 2021 5:42 PM GMT
आखिरकार बेटे शुभ्रांशु के साथ TMC में शामिल हो गए मुकुल रॉय, कहा- घर में आकर अच्छा लग रहा है
x
पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी को एक बड़ा झटका लगा है। बीजेपी ने जिस पार्टी लीडर की बदौलत पश्चिम बंगाल में लोकसभा 2019 में 18 सीटें जीती थी आज उसी लीडर ने भाजपा का दामन छोड़ दिया है। 

पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी को एक बड़ा झटका लगा है। बीजेपी ने जिस पार्टी लीडर की बदौलत पश्चिम बंगाल में लोकसभा 2019 में 18 सीटें जीती थी आज उसी लीडर ने भाजपा का दामन छोड़ दिया है। शुक्रवार को बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय ने अपने बेटे शुभ्रांशु रॉय के साथ टीएमसी में शामिल हो गए।


मुकुल रॉय के टीएमसी में शामिल होने के बाद ममता बनर्जी ने कहा कि मुकुल घर का लड़का है, वह अपने घर वापस आया है। भाजपा वाले उसको बहला कर अपने साथ ले गए थे अब मुकुल को वापस टीएमसी में आकर शांति मिली है। ममता ने आगे कहा कि मेरा मुकुल के साथ कोई मतभेद नहीं है, मुकुल का पार्टी में स्वागत है।

बता दे कि बंगाल में तो अभी शुरुआत है आगे चलकर भाजपा और भी कई बड़े झटके लगने वाले है क्योंकि टीएमसी से बीजेपी में शामिल हुए पूर्व मंत्री राजीव बनर्जी, पूर्व विधायक सव्यसाची दत्ता समेत कई नेता दुबारा टीएमसी में शामिल हो सकते है।

बता दें की मुकुल रॉय ने साल 2017 में टीएमसी छोड़कर बीजेपी जॉइन किया था। वह टीएमसी के पहले नेता थे जिन्होंने भाजपा का दामन थामा था और वही अब पहले नेता भी बन गए है जिन्होंने बीजेपी छोड़कर टीएमसी जॉइन कर ली।

टीएमसी में शामिल होने के बाद मुकुल रॉय ने कहा कि भाजपा आम लोगों की पार्टी नहीं है बल्कि यह एक एजेंसी है। मुकुल ने कहा, बंगाल में भाजपा की जो स्थिति है उसे देखकर ऐसा लगता है कि कोई भाजपा में नहीं रहेगा। बता दें कि मुकुल रॉय पिछले दिनों कोलकाता में हुई बीजेपी की मीटिंग में नहीं पहुंचे थे। उसके बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि मुकुल रॉय टीएमसी में शामिल हो सकते हैं।

भले ही बार पश्चिम बंगाल में बीजेपी पार्टी एक मजबूत विपक्ष के तौर पर उभरी है, लेकिन ताजा परिस्थितियों को देखते हुए ऐसा लगता है कि भाजपा बंगाल में अपनी नैतिक साख नहीं बचा पाएगी। राजनीतिक दमखम की लड़ाई में बीजेपी ने बंगाल में 77 सीटें तो जीत ली, लेकिन अब ऐसा लग रहा है कि बीजेपी के कई और नेता वापस टीएमसी के खेमे में जाना चाहते है और इसकी शुरुआत भी हो चुकी है।

अन्य खबरें

Next Story