राजनीती

गृहमंत्री अमित शाह की ममता बनर्जी और राहुल गांधी को चुनौती।

Janprahar Desk
12 Jan 2020 7:44 PM GMT
गृहमंत्री अमित शाह की ममता बनर्जी और राहुल गांधी को चुनौती।
x
गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने एक बार फिर साफ किया कि इससे देश के किसी भी नागरिक की नागरिकता नहीं जाएगी. मध्यप्रदेश के जबलपुर में नागरिकता कानून के समर्थन में जन जागरण अभियान के दौरान अमित शाह ने कहा कि भारत पर जितना अधिकार मेरा और आपका है, उतना ही अधिकार पाकिस्तान से आए

गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने एक बार फिर साफ किया कि इससे देश के किसी भी नागरिक की नागरिकता नहीं जाएगी. मध्यप्रदेश के जबलपुर में नागरिकता कानून के समर्थन में जन जागरण अभियान के दौरान अमित शाह ने कहा कि भारत पर जितना अधिकार मेरा और आपका है, उतना ही अधिकार पाकिस्तान से आए हुए हिंदू, सिख, बौद्ध और ईसाई शरणार्थियों का है. नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन देशहित में है.

उन्होंने कहा कि CAA पर भाजपा एक जन जागरण अभियान चला रही है. ये जन जागरण अभियान इसलिए चलाया जा रहा है, क्योंकि कांग्रेस पार्टी, केजरीवाल, ममता बनर्जी, कम्यूनिस्ट ये सभी इकट्ठा होकर देश को गुमराह कर रहे हैं. गृह मंत्री ने ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को चुनौती देते हुए कहा कि नागरिकता कानून में एक प्रावधान बता दीजिए जो इस देश में किसी से भी नागरिकता ले सकता है.

मैं देश के अल्पसंख्यक भाइयों-बहनों से कहने आया हूं कि CAA को पढ़ लें इसमें कहीं पर भी किसी की भी नागरिकता जाने का कोई प्रावधान नहीं है. उन्होंने कहा कि भारत पर जितना अधिकार मेरा और आपका है, उतना ही अधिकार पाकिस्तान से आए हुए हिंदू, सिख, बौद्ध, ईसाई शरणार्थी का है.

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कहा JNU में कुछ लड़कों ने भारत विरोधी नारे लगाए, उन्होंने नारे लगाए ‘भारत तेरे टुकड़े हो एक हज़ार, इंशाअल्लाह इंशाअल्लाह.’ ऐसे लोगों को जेल में डालना चाहिए या नहीं? जो देश विरोधी नारे लगाएगा उसका स्थान जेल की सलाखों के पीछे होगा.

इसके अलावा उन्होंने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ पर भी हमला बोला. उन्होंने कहा, ‘कमलनाथ जी जोर-जोर से कहते हैं CAA लागू नहीं होगा, अरे कमलनाथ जी ये जोर से बोलने की आयु नहीं है आपका स्वास्थ बिगड़ जाएगा. अगर इतना जोर बाकी है तो मध्य प्रदेश को ठीक करिए.

पीएम मोदी ने कहा, देश के नागरिकों के मन में नागरिकता कानून को लेकर तरह-तरह के सवाल भर दिए गए हैं. राष्ट्रीय युवा दिवस पर देश के युवाओं से कहना चाहता हूं कि ऐसा नहीं है कि देश की नागरिकता देने के लिए सरकार ने रातोंरात कोई कानून बना दिया है. हमें पता होना चाहिए कि दूसरे देश का कोई भी व्यक्ति भारत की नागरिकता ले सकता है. इसमें कोई दुविधा नहीं है. ये एक्ट नागरिकता छीनने का नहीं बल्कि देने का कानून है.

Next Story