राजनीती

सुप्रीम कोर्ट के फैसले  पर गुप्तेश्वर पान्डे ने बटोरी सुर्खिया ,बाद मे मांगी माफी

Janprahar Desk
20 Aug 2020 10:30 AM GMT
सुप्रीम कोर्ट के फैसले  पर गुप्तेश्वर पान्डे ने बटोरी सुर्खिया ,बाद मे मांगी माफी
x

जब पत्रकारो ने बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे  से रिया द्वारा बिहार की राजनीति को शामिल करने प्र सवाल पुछा तो  उन्होने कहा  "बिहार के मुख्यमंत्री पे कमेंट  करने की औकात रिया चक्रवर्ती की नही है "

बुधवार को सुशांत सिंह राजपूत  मामले  मे अदालत के  फैसले  पर  बिहार सरकार, और बिहार  के  राज्य पुलिस  ने इसे  बड़ी  जीत  बताई।   सुप्रीम  कोर्ट का यह फैसला उस याचिका का जवाब देते हुए आया है,जिसमे रिया  चक्रवर्ती ने अदालत  मे याचिका दी थी,की बिहार मे सुशांत आत्महत्या  मामले मे उनके खिलाफ जो शिकायत  दर्ज  हुई  है  ,उसे महाराष्ट्र पुलिस  को सौंप  दिया जाए,और  साथ मे ये भी कहा की,इस मामले  मे बिहार राज्य सरकार भी दखल  दे रही  है,जो सिर्फ चुनाव की तारीख नजदीक आने के कारण है। इसीलिए इस केस के जांच का अधिकार क्षेत्र  केवल महाराष्ट्र  सरकार के पास होना चाहिए । 

इसी याचिका पर  जवाब देते हुुए   अदालत  ने बुधवार को फैसला  सुनाया , अदालत ने कहा कि, क्युकि महाराष्ट्र  सरकार  बिहार सरकार को जांच  मे सहयोग  नही कर रही  है,इसलिए इस केस  के जांच  की जिम्मेदारी CBI  को सौपी  जा रही  है । इस  फैसले  को बिहार सरकार,और राज्य सरकार की पुलिस ने  केस की पहली    जीत बताया । वहीं  जब बिहार  के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे  से पत्रकारो ने रिया  चक्रवर्ती  के उस  बयान के बारे मे पुछा   जिसमे  उसने  बिहार  की राजनीति को शामिल कर लिया  था तो,उन्होने कहा कि  " बिहार के मुख्यमंत्री  पे कमेंट करने की औकात रिया  चक्रवर्ती की नही है"। साथ ही उन्होने  बिहार के मुख्यमंत्री    नीतीश   कुमार  को  सुशांत केस  मे सहयोग   देने के   लिए  धन्यवाद  कहा । 

लेकिन कुछ देर बाद ही गुप्तेश्वर पांडे  का रिया  चक्रवर्ती  पर  दिया गया बयान सुर्खियां बटोरने  लगा ,जिसकी वजह  से 

गुप्तेश्वर  पांडे ने माफी मांग ली,उन्होने कहा कि  उनका बयान अगर  किसी को  दुख पहुचाता है  तो इसके लिए  क्षमा मांगते है,उन्होने कहा की उनके बयान को गलत तरीके से नही लिया जाना चाहिए,क्युंकि  उनका मानना  है कि  एक  सवैधांनिक पद पर बैठे   किसी  व्यक्ति  

के लिए   किसी का भी ऐसे  बयान करना  सही नही है ,लेकिन अगर  फिर भी इस बयान मे  मेरे औकात शब्द की   वजह से आपत्ति  है तो मैं  इसके लिए  क्षमा मांगता हूँ ।

Next Story