राजनीती

कांग्रेस को मजबूत बनाने के लिए CWC चुनाव जरूरी: गुलाम नबी आजाद

Janprahar Desk
28 Aug 2020 11:39 AM GMT
कांग्रेस को मजबूत बनाने के लिए CWC चुनाव जरूरी: गुलाम नबी आजाद
x
कांग्रेस पार्टी में पिछले कुछ दिनों से अध्यक्ष पद में बदलाव को लेकर कई कहानियां चल रही है। 23 नेताओं की चिट्ठी प्राप्त होने के बाद सभी के दिलों- दिमाग पर राजनीति को लेकर हलचल पैदा हो चुकी है ।कई लोग चाहते हैं कि पार्टी का अध्यक्ष राहुल गांधी को बना दिया जाए।
 कांग्रेस पार्टी में पिछले कुछ दिनों से अध्यक्ष पद में बदलाव को लेकर कई कहानियां चल रही है। 23 नेताओं की चिट्ठी प्राप्त होने के बाद सभी के दिलों- दिमाग पर राजनीति को लेकर हलचल पैदा हो चुकी है ।कई लोग चाहते हैं कि पार्टी का अध्यक्ष राहुल गांधी को बना दिया जाए। उसी की दुसरी ओर कुछ लोग चाहते हैं कि सोनिया गांधी की पार्टी की अध्यक्ष बनी रहे ।लेकिन सोनिया गांधी ने पार्टी का अध्यक्ष बनने से इनकार कर दिया था ।

उसके बाद एक कमेटी की बैठक में यह बात सामने आई थी कि अगले 6 माह तक सोनिया गांधी ने कांग्रेस के अध्यक्ष का पद स्वीकार कर लिया है। फिर राहुल गांधी ने चिट्ठी लिखने वाले 23 नेताओं को भाजपा का चमचा बताया था। और उन्होंने कहा था कि यह इन नेताओं की भाजपा से मिलीभगत का परिणाम है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने पत्र में लिखी बात को दोहराते हुए कहा है कि कांग्रेस की पूरी कार्यसमिति (Congress Working Committee) का चुनाव होना चाहिए। आजाद ने कहा कि जिस किसी की भी कांग्रेस के आंतरिक कामकाज में वास्तविक रुचि है, वह हमारे प्रस्ताव को हर राज्य और जिला अध्यक्ष के रूप में चुने जाने का स्वागत करेगा। पूरी कांग्रेस कार्य समिति का चुनाव होना चाहिए।कांग्रेस नेताओं द्वारा लिखी गई चिट्ठी में संगठन में सुधार करने की मांग की गई थी। जिसे लेकर सीडब्लूसी की बैठक में आरोप प्रत्यारोप का दौर भी चला था।

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हमारा इरादा कांग्रेस को सक्रिय और मजबूत बनाने का है। लेकिन जिन लोगों को केवल 'अपॉइंटमेंट कार्ड' मिले, वे हमारे प्रस्ताव का विरोध करते रहे। सीडब्ल्यूसी के सदस्य चुने जाने में क्या हर्ज है, इन सदस्यों के पार्टी में स्थिर कार्यकाल होंगे। वहीं इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने उत्तर प्रदेश की लखीमपुर खीरी की जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से जितिन प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई की मांग से जुड़ी खबर की पृष्ठभूमि में बृहस्पतिवार को कहा कि पार्टी को अपने लोगों पर नहीं, बल्कि भाजपा को ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ से निशाना बनाने की जरूरत है।

Next Story