छोटे दलों को रिझाने की जुगत में भाजपा, मोदी के नए मंत्रिमंडल विस्तार में यूपी से इन्हें मिल सकती है जगह

आगामी विधानसभा चुनावों से पहले मोदी सरकार छोटे दलों को रिझाने की जुगत में लग गई है। काफी दिनों से चर्चा चल रही थी कि मोदी सरकार का कैबिनेट विस्तार हो सकता है।
 
Modi new cabinet

आगामी विधानसभा चुनावों से पहले मोदी सरकार छोटे दलों को रिझाने की जुगत में लग गई है। काफी दिनों से चर्चा चल रही थी कि मोदी सरकार का कैबिनेट विस्तार हो सकता है। अब पुख्ता खबर आई है कि सात जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे। 

यूपी समेत अन्य राज्यों से राजनीति जमीन खिसकता हुआ देख मोदी मंत्रिमंडल में इस बार छोटे घटकों को तरजीह दी जा सकती है। वहीं जिन राज्यों में अगले साल विधानसभा चुनाव होने है उन राज्यों के नेताओं को तरजीह दी जाएगी। इसके अलावा क्षेत्रीय दलों के नेताओं को मंत्रिपरिषद में शामिल करने की योजना है। 

यूपी में भाजपा से खफा जनता को रिझाने के लिए यूपी के कई खास चेहरों को मंत्रिमंडल में जगह दी जा सकती है। खबर है कि यूपी में सहयोगी पार्टी अपना दल की नेता अनुप्रिया पटेल को मंत्री बनाया जा सकता है। कहा जा रहा है कि यूपी से 3 से 4 मंत्रियों को मंत्रीमंडल में जगह मिल सकती है। भाजपा विधानसभा चुनाव के मद्देनजर छोटे दलों को अब एनडीए के कुनबे में शामिल करना चाहती है। 

यह भी पढें: शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, शिवसेना-बीजेपी का रिश्ता आमिर खान और किरण राव के जैसा

मिली जानकारी के अनुसार पीएम मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार 7 जुलाई को करेंगे। नए मंत्रिमंडल में 17 से 22 मंत्री शपथ ले सकते है। वर्तमान में मंत्रिमंडल में 53 मंत्री है। कयास लगाए जा रहे है इसमें 28 मंत्रियों को और बढ़ाया जा सकता है। तो इस हिसाब से केंद्रीय मंत्रिमंडल में 81 सदस्य हो सकते है।

वहीं, नए कैबिनेट में बिहार के तीन नेताओं के शामिल होने की संभावना है। जानकारी के अनुसार एलजेपी के बागी विधायक पशुपति पारस, जेडीयू कोटा से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह और बीजेपी कोटा से राज्यसभा सांसद सुशील मोदी मंत्रिमंडल का हिस्सा हो सकते है। 

अन्य खबरें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|